Live Tv

Wednesday ,26 Jun 2019

उत्तर प्रदेश

खबर

बलिया में पीएम मोदी ने बोला 'गालियों का जवाब मोदी ये नहीं जनता देगी'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज मंगलवार की सुबह बलिया में चुनावी जनसभा को संबोधित करने पहुंचे। पीएम नरेंद्र मोदी के इस कार्यक्रम को लेकर प्रशासनिक अमले ने एक दिन पहले ही पूरी तैयारियों को अमलीजामा पहना दिया। पीएम के कार्यक्रम स्थल का सोमवार को आला अफसरों और एसपीजी की टीम ने जायजा लिया। टीम ने सुरक्षा व जनता की सुविधाओं को लेकर कई जरूरी निर्देश दिए। वहीं पीएम ने भी सुबह टवीट कर अपने कार्यक्रमों की जानकारी साझा की।

पूरी खबर पढ़े....ममता को शाह की चुनौती "मैं जय श्री राम बोलता हूँ, हिम्मत हो तो गिरफ्तार कर लेना"

बलिया में सभा को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि- बागी बलिया उज्जवला योजना से धुएं से मुक्त हुआ है। इसी समर्थन का परिणाम है कि महामिलावट वाले यह सारे मोदी को गाली देने में जुट गए हैं। ऐसा कोई दिन नहीं जब मोदी के लिए उनके मुंह से गाली न निकले। छह चरणों की बौखलाहट है, हार की हताशा साफ दिख रही है। मैं इनकी गालियों को उपहार मानता हूं। इनकी गालियों को जवाब मोदी नहीं यह जनता जनार्दन देगी। मैं तो मां बहनों बेटियों के सम्मान में खडा हूं। समाज के आखिरी पंक्ति में जो खडा है उसके लिए हूं। यह महामिलावटी पूछ रहे हैं कि मोदी की जाति क्या है। साथियों यह बुआ बबुआ दोनों मिलकर जितने साल मुख्यमंत्री नहीं रहे उससे ज्यादा समय मैं गुजरात का सीएम रहा हूं। अनेक चुनाव लडे और लडाए हैं लेकिन कभी अपनी जाति का सहारा नहीं लिया। मैं पैदा भले अति पिछडी जाति में हुआ लेकिन दुनिया में देश को अगडा बनाने का लक्ष्य है। योगी जी बता रहे थे मेरे दिमाग और जाति नहीं है। जनता को लाभ जाति पूछकर नहीं दिया। इसलिए वोट भी जाति के नाम पर नहीं मांग रहा हूं। मुझे देश के लिए जीना है वोट भी देश के लिए मांगता हूं।

...

KNEWS !1 month ago

खबर

तेजबहादुर की आखिरी उम्मीदें भी खत्म, नहीं लड़ सकेंगे अब वाराणसी से मोदी के खिलाफ चुनाव

तेज बहादुर यादव के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ वाराणसी से लोकसभा चुनाव लड़ने उम्मीदों पर पानी फिर गया है. सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को नामांकन रद्द करने के खिलाफ दायर की गई याचिका को खारिज करते हुए कहा कि उनकी याचिका में कोई मैरिट नहीं है. कोर्ट के इस फैसले से वाराणसी में प्रधानमंत्री मोदी को तगड़ी चुनौती देने की योजना पर महागठबंधन को बड़ा तगड़ा झटका लगा है.

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को तेज बहादुर यादव की शिकायत पर सुनवाई करते हुए चुनाव आयोग को निर्देश दिया था कि तेज बहादुर की शिकायत के हर बिंदु पर गौर किया जाए और 9 मई तक कोर्ट में जवाब दाखिल किया जाए. चुनाव आयोग ने पिछले दिनों वाराणसी लोकसभा सीट से तेज बहादुर यादव के नामांकन को रद्द कर दिया था, जिसके खिलाफ तेज बहादुर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे.

पूरी खबर पढ़े....राहुल को दोहरी नागरिकता विवाद में सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत याचिका हुई खारिज

समाजवादी पार्टी की ओर से नामित और बीएसएफ के बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव की याचिका पर आज गुरुवार को फिर से सुनवाई हुई. निर्वाचन आयोग की ओर से राकेश द्विवेदी ने अपना पक्ष रखा. इस दौरान उन्होंने आरपी एक्ट सहित पुराने फैसलों का हवाला दिया. साथ ही चुनाव आयोग ने वाराणसी के निर्वाचन अधिकारी के फैसले को सही करार दिया.

19 मई को वाराणसी में मतदान

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान प्रशांत भूषण ने तेज बहादुर की ओर से पक्ष रखते हुए कहा, 'मैंने अपनी बर्खास्तगी का आदेश नामांकन के साथ संलग्न किया था. लेकिन हमें जवाब रखने का पूरा मौका नहीं दिया गया. मैं चुनाव रोकने को नहीं रोक रहा हूं, बस चाहता हूं कि मेरा नाम जोड़ा जाए.' वाराणसी में लोकसभा चुनाव के सातवें चरण के तहत 19 मई को मतदान होना है.

बीएसएफ में कांस्टेबल रहे तेज बहादुर यादव खाने की क्वालिटी पर सवाल उठाने के बाद चर्चा में आए थे. बाद में बीएसएफ से उन्हें बर्खास्त भी कर दिया गया था. कुछ समय पहले तेज बहादुर ने वाराणसी लोकसभा सीट से पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने का निर्णय किया. पहले उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन दाखिल किया था, लेकिन बाद में सपा ने उन्हें टिकट दे दिया. हालांकि हलफनामे में जानकारी छुपाने का आरोप लगाते हुए चुनाव अधिकारी ने उनका नामांकन कर दिया.

...

KNEWS !1 month ago

खबर

मोबाइल पर गाने बजाने का विरोध करना कर्मचारी को पड़ा महंगा

अलीगढ़ में ड्यूटी टाइम में मोबाइल पर बज रहे गाने का विरोध करना एएमयू के तिलिया कॉलेज में तैनात बाबू को महंगा पड़ गया. एक संविदा कर्मी ने गाना बजाने का विरोध करने पर बाबू के साथ जमकर मारपीट की. इस दौरान पीड़ित कर्मचारी छत से गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसके बाद उसे मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया. वहीं घटनास्थल पर पहुंचकर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज किया.

मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र के एएमयू कैंपस का है, जहां तस्वीर महल चौराहे के पास अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के अजमल ख़ान तिब्बिया कॉलेज में लीव वैकेंसी पर कार्यरत कर्मी ने कॉलेज के ही स्थायी कर्मचारी के साथ मारपीट की, इसके बाद करीब 20 फीट ऊंची छत से उसे फेंक दिया.

पीड़ित कर्मचारी की हालत गंभीर है, जिसका जेएन मेडिकल कॉलेज में उपचार चल रहा है. पीड़ित कर्मचारी इकबाल गनी की तहरीर पर थाना सिविल लाइंस पुलिस ने आरोपी मो. इमरान के खिलाफ नामजद एवं उसके दो अज्ञात साथियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है. झगड़े का कारण एक दिन पहले का आपसी विवाद और उससे संबंधित शिकायत वापस लेने के लिए दबाव बनाना माना जा रहा है.    

...

KNEWS !1 month ago

खबर

इंस्पेक्टर ने की स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की मांग

औरैया से एक चौंका देने वाली खबर सामने आई है, जहां एक इंस्पेक्टर ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की मांग की हैं. यह वही इंस्पेक्टर है, जिसने हत्या जैसे संगीन केस की गुत्थी को 24 घंटे के अंदर सुलझा दिया था. इसके बाद इंस्पेक्टर ने पुलिस अधीक्षक को प्रार्थनापत्र लिखकर सेवानिवृत्ति की मांग की है. खबर है कि पुलिस इंस्पेक्टर पर मामले के खुलासे को लेकर बीजेपी नेता व जिला पंचायत अध्यक्ष ने 2 लाख की रिश्वत मांगने का आरोप लगाया है, जिससे आहत होकर उसने ऐसा फैसला लिया है.

खुद पर आरोप लगने के बाद इंस्पेक्टर ने भी जिला पंचायत अध्यक्ष पर गंभीर आरोप लगाए और कहा कि वह थाने में आने वाले सभी अपराधियों के पैरोकार हैं. जिला पंचायत व गरीबों के सरकारी अनाज की बोरियां भी इन्हीं के मिल से मिलीं हैं. वहीं जिला पंचायत अध्यक्ष अपराधियों को जबरन छुड़ाकर ले जाते हैं.

गौरतलब है कि यूपी के औरैया जनपद के सदर कोतवाली में तैनात सब इंस्पेक्टर अशोक कुमार ने विगत 4  मई को सदर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में हुई वृद्धा की हत्या का केस 24 घण्टे में सुलझा लिया था. यही नहीं बल्कि आरोपी का खुलासा करते हुए वृद्धा की बहु को जेल भी पहुंचाया.

आरोप है कि महिला की गिरफ्तारी के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष ने फोन कर बहु को निर्दोष बताया और इंस्पेक्टर अशोक कुमार को अभद्र शब्द कहे. जिसका विरोध करने पर जिला पंचायत अध्यक्ष ने इंस्पेक्टर पर पैसे न देने पर परिजनों को बंधक बनाने का आरोप लगाया व लाइन हाजिर करवा दिया.

जिससे आहत होकर इंस्पेक्टर ने पुलिस अधीक्षक, औरैया को स्वैच्छिक सेवा निवृत्ति का प्रार्थना पत्र दिया. इस मामले में पुलिस अधीक्षक ने बताया कि उन्हें प्रार्थना पत्र मिला है व मामले की जांच के बाद ही कोई कार्रवाई की जा सकेगी.

 

 

...

KNEWS !1 month ago

खबर

भाई की पत्नी के साथ किया बलात्कार, मुकदमा दर्ज होने पर जिंदा जलाया

अलीगढ़ से इंसानियत और रिश्तों को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है, जहां एक युवक ने पहले तो अपने भाई की पत्नी के साथ बलात्कार किया. फिर जब उसके ख़िलाफ पुलिस में मुकदमा दर्ज कराया गया, तो आरोपी युवक के सर पर मानो खून सवार हो गया और उसने अपनी मां के साथ मिलकर पीड़िता पर मिट्टी का तेल डालकर उसे जला दिया. घटना के बाद से पीड़िता की हालत काफी नाजुक बनी हुई है और फिलहाल वह मेडिकल कॉलेज में भर्ती है.

यह मामला अलीगढ़ के देहली गेट थाना क्षेत्र के शाह जमाल का है, जहां एक युवक ने अपने छोटे भाई की पत्नी के साथ दुष्कर्म किया, जिसकी शिकायत महिला ने अपने पति से की तो पति ने थाना देहलीगेट में अपने भाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया. जिससे नाराज होकर आरोपी ने मुकदमा वापस लेने के लिए दबाव बनाया. जब मुकदमा वापस नहीं लिया तो युवक ने अपनी मां के साथ मिलकर पीड़िता पर मिट्टी का तेल डाल कर उसे आग के हवाले कर दिया.

इस पूरे मामले में पुलिस की भूमिका भी सवालों के घेरे में है. यदि मुकदमा दर्ज कराते ही पुलिस ने आरोपी युवक पर कार्रवाई की होती, तो आज पीड़ित महिला अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच न जूझ रही होती. इस मामले में पुलिस के आला अधिकारियों का कहना है कि आरोपी के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और उसे गिरफ्तार कर उचित कार्रवाई की जा रही है. 

...

KNEWS !1 month ago

खबर

भ्रष्टाचार का गठबंधन है सपा- बसपा गठबंधन: योगी

छठवें चरण के मतदान के लिए प्रचार अभियान जोरों पर है. इसी के तहत उत्तर- प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को बस्ती में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे. जहां सपा- बसपा गठबंधन सहित कांग्रेस पर निशाना साधते हुए योगी ने कहा कि ये पार्टियां विकास पर सेंध लगाती हैं. देश के अंदर सपा, बसपा, कांग्रेस ने डकैती के अलावा कुछ भी नहीं किया. हमने गरीबों का मकान बनवाया, लेकिन बहन जी ने अपना स्वयं का बंगला  बनवाया और बबुआ उनसे भी आगे निकल गए और सरकारी बंगले की टोटी ही उखाड़ कर ले गए.

बस्ती  में सूबे के मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा सरकार में किसानों की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए उनकी फसलों का दो गुना मूल्य दिया जा रहा है. सपा- बसपा गठबंधन भ्रष्टाचार का गठबंधन है. यह गठबंधन जातिवाद की राजनीति करता है जबकि भाजपा विकास की बात करती है.

आज बस्ती लोकसभा क्षेत्र के बैड़वा मंदिर में आयोजित चुनावी जनसभा में प्रदेश के मुख्यमंत्री ने  सपा- बसपा गठबंधन और कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि शिवपाल यादव कहते हैं कि मेरे पास कोई बहन नहीं है, तो अब बुआ कहां से आ गयी है? उन्होंने कहा कि बुआ और बबुआ का गठबंधन चुनाव तक ही है, इसके बाद दोनों एक- दूसरे को भ्रष्टाचारी और अपराधी कहेंगे, क्योंकि दोनों अपने मकसद में कामयाब होने वाले नहीं हैं.

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने देश में 55 वर्षों तक शासन करने के बाद देश का सम्मान गिराया है, जबकि भाजपा सरकार ने देश के सम्मान को बचाने का कार्य किया है. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार पांच वर्षों में 7 करोड़ महिलाओं को गैस कनेक्शन, साढ़े 9 करोड़ शौचालय, 37 करोड़ गरीबों का बैंक में खाता खोला गया है और इंफ्रास्ट्रक्चर का काम तेजी से चल रहा है.

प्रदेश में नई चीनी मिलों को चालू किया जा रहा है. साथ ही हाइवे, मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग, पॉलिटेक्निक कॉलेज, आईआईटी, एम्स आदि का निर्माण कार्य भी चल रहा है. जिससे प्रदेश में जहां रोजगार के अवसर बढ़ेंगे तो वहीं बच्चों को भविष्य में अच्छी शिक्षा, अच्छी सड़कें भी मिलेंगी. मुख्यमंत्री ने जनता से भाजपा प्रत्याशी हरीश द्विवेदी को जिताने की अपील करते हुए कहा कि आप लोग अच्छी सरकार बनाने के लिए कमल के फूल का बटन दबाएं और शक्तिशाली राष्ट्र के निर्माण में अपना योगदान दें. 

 

...

KNEWS !1 month ago

खबर

प्रियंका गांधी ने स्वीकार की अपनी हार : सूर्य प्रताप शाही

चुनाव अपने अंतिम दो चरणों में है, लेकिन नेताओं के बीच जुबानी जंग जारी है. उत्तर- प्रदेश सरकार में कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने एक निजी कार्यक्रम के तहत सूबे के मऊ जिले का भ्रमण किया. इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से वार्ता की और विरोधियों पर हमला करते हुए कहा कि प्रियंका गांधी ने खुद ही हार को स्वीकार कर लिया है. 

प्रदेश के कृषि मंत्री ने आगे कहा कि महागठबंधन दहशत और घबराहट में है, इसलिए उनके नेता अनाब- सनाब बक रहे हैं. एक तरीके से कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने खुद ही अपनी हार को स्वीकार कर लिया है. उन्होंने खुद ही कहा है कि वह चुनाव वोट काटने के लिए लड़ रहे हैं. कुल मिलाकर गठबंधन 68 सीटों पर चुनाव लड़ रही है, जिनमें 37- 37 सीटों पर अलग- अलग चुनाव लड़ा जा रहा है. इसलिए जो मुख्य दावेदार है वो 37 सीटों के आधार पर प्रधानमंत्री नहीं बन सकता.

पिछले 15 सालों में उत्तर- प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी की सरकार रही है. उनकी सरकार में जनता के साथ अन्याय हुआ है. मोदी सरकार और अभी दो साल में योगी सरकार को जनता ने देखा है. प्रदेश और केन्द्र की सरकार ने आम जन मानस को काफी ज्यादा प्रभावित किया है. यह किसी उम्मीदवार का चुनाव नहीं है, यह देश की सरकार बनाने का चुनाव है, प्रधानमंत्री चुनने का चुनाव है. इसलिए देश की आम जनता प्रधानमंत्री मोदी को एक और मौका देने जा रही है.

सूर्य प्रताप शाही ने  आगे कहा कि मोदी जी की ईमानदारी का, उनके द्वारा भ्रष्टाचार के खिलाफ उठाए गए कदमों का ही नतीज़ा है कि सरकार ने जो चार हजार रुपये किसान को दिये, वह चार हजार उनके पास पहुंचें. लेकिन राहुल गांधी के स्वर्गीय पिता आदरणीय राजीव गांधी जी जब प्रधानमंत्री थे, तो वो कहते थे कि जब हम 100 रुपया भेजते हैं तो 85 रुपया रास्ते में ही रुक जाता है, 15 ही वहां तक पहुंच पाता है. अब वो 85 रुपया खाने वाले कौन थे, वो काग्रेसी थे, वो काग्रेस के दलाल थे, वे काग्रेस में बैठे सत्ताधारी लोग थे. इसकी वजह से देश हमारा गरीब रहा, हमारा किसान आर्थिक रुप से कमजोर रहा. मोदी और योगी की सरकार के उपायों ने हमारे किसान को मजबूत किया है.

...

KNEWS !1 month ago

खबर

युवक ने खुद ही रचा अपने अपहरण का नाटक, ऐसे हुआ खुलासा

जनपद मैनपुरी के औंछा थाना क्षेत्र के ग्राम नगला महानन्द में युवक के अपहरण को लेकर चौंका देने वाला खुलासा हुआ है. 22 तारीख से अपहृत हुए अभिषेक नामक युवक के अपहरण काण्ड में पुलिस की जांच के बाद पता चला कि उसने अपने पिता से रूपए ऐंठने के लिए खुद ही अपने अपहरण का नाटक रचा था.

बता दें कि अभिषेक के अपहरण के बाद फिरौती के लिए 1 लाख रुपये की मांग की गई थी. जिसके बाद उसके पिता में शिकायत दर्ज की थी. पुलिस ने तत्काल ही कार्रवाई करते हुए अभिषेक को नोएडा से किया गिरफ्तार किया तथा खुद के झूठे अपहरण का नाटक रचने के मामले में एफआईआर दर्ज कर उसे जेल भेज दिया.

पूरा मामला जनपद मैनपुरी के औंछा थाना क्षेत्र के नगला महानन्द गांव का है. यहां के रहने वाले कश्मीर सिंह ने 4 मई को थाने में सूचना दी थी कि, मेरा बेटा अभिषेक जो कि पिछली 22 तारीख की शाम को घर से नौकरी की कहकर अलीगढ़ गया था, उसका अपहरण कर लिया गया है. जिसकी सूचना उसके दोस्त के मोबाइल पर अपहरणकर्ताओं के द्वारा भेजी गयी थी, साथ ही हाथ- पैर बंधे हुए फोटो भी भेजे गए थे. वहीं मोबाइल फोन से 1 लाख रुपये की फिरौती की रकम की मांग भी की गई और 6 मई तक पैसा न भेजने पर हत्या की धमकी भी दी गई.

हालांकि युवक के पिता ने तत्काल ही इसकी सूचना पुलिस को दी, जिसके बाद पुलिस हरकत में आई. मामले की तहकीकात के बाद नोएडा ने जब युवक को पुलिस ने बरामद किया चौकाने वाला खुलासा हुआ. इस पूरे मामले में युवक ने अपने पिता से 1 लाख रूपए की रकम को हड़पने के लिए खुद अपने ही अपहरण की झूठी कहानी रची थी. पुलिस ने इस पूरे मामले में आरोपी युवक के खिलाफ ही मामला दर्ज कर जेल भेज दिया गया है.  

...

KNEWS !1 month ago

खबर

लोकसभा चुनाव: जानिए प्रयागराज की दो सीटों के सियासी मायने और समीकरण

लोकसभा चुनाव के पांच चरण संपन्न हो चुके हैं और शेष दो चरणों के लिए प्रत्याशियों ने कमर कस ली है. 2014 के लोकसभा चुनाव में जहां मोदी रथ पर सवार भाजपा ने एक तरफा माहौल बना दिया था, वहीं 2019 लोकसभा चुनाव में कई सियासी सूरमाओं की प्रतिष्ठा दांव पर है. इस बीच अगर प्रयागराज की दो सीटों की बात करें तो यहां 12 मई को छठवें चरण में मतदान होना है. नेहरु गांधी खानदान का पैतृक शहर होने और प्रियंका गांधी के प्रयागराज से चुनावी आगाज करने के चलते कांग्रेस के लिए दोनों ही सीटें नाक का सवाल बनी हुई हैं. वहीं सपा और बसपा गठबंधन के लिए भी फूलपुर सीट को बचाए रखने और इलाहाबाद संसदीय सीट जीतने के खास मायने हैं. जबकि भाजपा के लिए भी ये दोनों सीटें प्रतिष्ठा का सबब बनी हुई हैं.

बीते लोकसभा चुनाव में प्रयागराज जिले की दोनों संसदीय सीटों इलाहाबाद और फूलपुर पर भारतीय जनता पार्टी ने अपना परचम लहराया था. लेकिन फूलपुर उपचुनाव में इस संसदीय सीट पर सपा का कब्जा हो गया. लेकिन बदले हुए राजनीतिक परिदृश्य में महागठबंधन के सामने आने और मोदी की एयर स्ट्राइक के बाद दोनों ही लोकसभा सीटों पर रोचक मुकाबला होने की उम्मीद है. इलाहाबाद संसदीय सीट के लिए बीजेपी ने अपना उम्मीदवार उत्तर-प्रदेश सरकार में पर्यटन मंत्री रही रीता बहुगुणा जोशी को उम्मीदवार बनाया है, जबकि सपा बसपा गठबंधन से राजेन्द्र पटेल, कांग्रेस से योगेश शुक्ला और आम आदमी पार्टी ने भवानी मां को अपना उम्मीदवार घोषित किया है. आइए जानते हैं  इलाहाबाद संसदीय सीट के असल मायने और मुद्दे क्या है?  

दरअसल इलाहाबाद लोकसभा सीट से देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री, पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह, पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. मुरली मनोहर जोशी, बसपा संस्थापक काशी राम, अमिताभ बच्चन, पूर्व सीएम हेमवती नंदन बहुगुणा और सपा नेता रेवती रमण जैसे दिग्गज चुनाव लड़ चुके हैं, जिससे यह सीट हमेशा से ही एक हाईप्रोफाइल सीट रही है. इस सीट पर 2014 में श्यामाचरण गुप्ता ने लंबे समय बाद भाजपा को जीत दिलाई.

इससे पहले डॉ. मुरली मनोहर जोशी को हराकर लगातार दो बार इलाहाबाद संसदीय सीट पर सपा के रेवती रमण सिंह जीते थे. 2014 में सपा ने एक बार फिर उन पर भरोसा जताया और मैदान में उतारा. लेकिन भाजपा की लहर में कुंवर रेवती रमण सिंह को हार का सामना करना पड़ा. भाजपा के टिकट पर श्यामाचरण गुप्ता मैदान में उतरे और 3,13,772  वोट जीतकर सांसद चुने गए, जबकि सपा के रेवती रमण सिंह को 2,51,763 वोट मिले थे.

वहीं इसी सीट पर बसपा से केशरी देवी पटेल 1,62,073  वोट पाकर तीसरे नंबर पर रही. उस वक्त कांग्रेस उम्मीदवार रहे नंद गोपाल गुप्ता नंदी को चौथे स्थान पर थे. लेकिन अब परिस्थतियां बदली हैं. भाजपा सांसद रहे श्यामाचरण पार्टी छोड़ बांदा से सपा के टिकट पर चुनाव लड़ने जा रहे हैं. वहीं इलाहाबाद संसदीय सीट के मुद्दों की बात करें तो औद्योगिक क्षेत्र नैनी बंदी के कगार पर है जो कि चुनाव में बड़ा मुद्दा होगा. यमुनापार इलाके में पेयजल संकट और सिंचाई का संकट भी सालों से बना हुआ है. कई औद्योगिक इकाइयों के बंद होने से बढ़ी बेरोजगारी भी इस सीट का बड़ा मुद्दा होगा. साथ ही यमुनापार को अलग जिला घोषित करने की भी मांग को भी राजनीतिक पार्टियां चुनावी मुद्दा बना सकती हैं. 

...

KNEWS !1 month ago

खबर

हरदोई में युवक की चाकू मारकर हत्या

उत्तर- प्रदेश के हरदोई जिले से सनसनीखेज घटना सामने आई है, जहां एक युवक की चाकू मारकर बेरहमी से हत्या कर दी गई. युवक के शरीर पर कई बार चाकुओं से हमला किया गया. वहीं हत्या के दिन युवक के बेटे का नामकण समारोह होना था, लेकिन उससे पहले ही हत्यारों ने इस घटना को अंजाम दे दिया. फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और मामले की जांच में जुट गई है.

दहला देने वाली पूरी घटना थाना शाहाबाद क्षेत्र के नेवादा गांव की है, जहां पर सचिन (23) नामक युवक के बेटे का नामकरण समारोह था. जिसके लिए बाजार से कुछ सामान खरीद कर वह वापस लौट रहा था. तभी उसको एक फोन आया, उसके बाद वह कहीं चला गया. जब देर रात तक सचिन घर वापस नहीं लौटा तब परिजनों तलाश में जुट गए.

जिसके बाद सुबह तड़के सचिन का शव गांव से 200 मीटर की दूरी पर एक पुलिया के किनारे झाड़ियों में पड़ा मिला. जिसके शरीर पर चाकुओं से गोदने के गंभीर निशान बने हुए थे. इसके बाद नामकरण की खुशियां मातम में बदल गईं और पूरे परिवार में कोहराम मच गया. आस- पड़ोस वालों ने पुलिस को घटना की सूचना दी. पूरे मामले में पुलिस का कहना है कि हत्या के कारणों का पता किया जा रहा है और पूरे मामले की जांच की जा रही है.

...

KNEWS !1 month ago

मुख्य ख़बरे

रेप केस से बरी चर्चित IPS अमिताभ ठाकुर...

उत्तर प्रदेश क्राइम - 17 मार्च 2018...

पूर्व मुख्यमंत्री स्व. हेमवती नंदन बहुगुणा की पुण्यतिथि मनाई गई...

मतदाता सूची को लेकर लोगो ने जिलाधिकारी आवास का किया घेराव...

महराजगंज जिले का हाईटेक विलेज ...

उत्तर प्रदेश क्राइम - 10 मई 2018...

जोश-ए-जवानी

भारत में ऐसे लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है जिनमें सेक्स के प्रति इच्छा में कमी देखी जा रही है और ज्यादातर लोग अपराधबोध की वजह से इस बारे में खुलकर बात भी नहीं कर पाते हैं लेकिन क्या आप जानते है कैसे सेक्स आपकी कैलोरी बर्न करने में मदद करता है, दरअसल कुछ वक्त पहले एक स्टडी सामने आई थी, जिसमें कहा गया कि सेक्स से कैलोरी बर्न करने में मदद मिलती