Live Tv

Tuesday ,25 Jun 2019

राशिफल

खबर

राहुकाल में हुआ चुनाव तारीखों का ऐलान, चुनावी परिणाम पर होगा ऐसा असर

लोकसभा चुनाव २०१९ का चुनावी बिगुल बज चुका है। रविवार शाम को ५ बजकर २९ मिनट से तारीखों का ऐलान शुरू हुआ था। उस समय क्षितिज पर सिंह राशि उदित थी। चंद्रमा मेष राशि में विद्यमान था। साउथ इंडिया में विशेष मान्य राहुकाल भी बना हुआ था। यह इस बात का संकेत है कि आगामी लोकसभा चुनाव कई आरोप-प्रत्यारोप और आशंकाओं से ग्रस्त रहने वाला है। तारीखों के ऐलान से चुनाव प्रक्रिया और परिणाम के आकलन का प्रयास कर रहे हैं ज्योतिषाचार्य डॉ. अरुणेश कुमार शर्मा। 

लग्न राशि सिंह स्थिर स्वभाव रखती है। स्वामी सूर्य है। लग्नचक्र में यह वर्गात्तम है। यह स्पष्ट संकेत है कि प्रशासन चुनाव प्रक्रिया पर हावी रहने वाला है। इससे शासन-प्रशासन के सहयोगियों को राहत होगी। विरोधी को संघर्ष करना होगा। अतः चुनाव में व्यवधान की सोच रखने वाले शांत रहें, यही उनके लिए अच्छा है।हालांकि, राहुकाल और अग्नितत्व राशियों के प्रभाव से कई प्रक्रियागत व्यवधान आना तय है। 

ज्योतिषाचार्य डॉ. अरुणेश कुमार शर्मा के अनुसार, घोषणा के दौरान चंद्रमा का केतु के नक्षत्र अश्विनी में संचरण था। इसका प्रभाव यह होगा कि चुनाव पर जन भावनाओं का गहरा प्रभाव रहेगा। जो भी दल और गठबंधन सत्ता में आएगा अच्छा बहुमत लेकर आएगा। 

तस्वीरों में देखें आकाश अंबानी की ग्रैंड वेडिंग का शानदार सेल‍िब्रेशन.... (आगे पढ़े)

लग्न चक्र में चंद्रमा का भाग्य स्थान में होना जताता है कि आस्था और विश्वास की प्रबलता मतदान पर हावी रहेगी। मतदान दल विभिन्न अवरोधों के बावजूद अपेक्षित परिणाम पाएंगे। वोटिंग परसेंटेज उम्मीद से अच्छा रहेगा। पहले की तुलना में बड़ी संख्या में मतदाता चुनाव करने गृह क्षेत्र पहुंचेंगे। 
चुनाव में जातिवाद धर्म सम्प्रदाय, समुदाय और आपसी भरोसे का गहरा प्रभाव रहेगा। राष्ट्रवाद क्षेत्रवाद की प्रमुखता कमतर ही रहेगी। व्यक्तिवाद चुनाव परिणामों को खासा प्रभावित करेगा। अर्थात स्थापित पुराने चेहरों में अधिकतर जीत दर्ज कर सकते हैं। 
सत्ता पक्ष के लिए चुनाव तारीखों की घोषणा का समय सकारात्मकता बढ़ाने वाला है। सत्ता और चुनाव आयोग दोनों के विरोधियों को उभरने से पहले ही अप्रभावी कर दिया जाएगा। चुनाव आयोग साख सम्मान बढ़ाने में सफल होगा। 

राहुकाल प्रमुखतः दक्षिण भारत में विचारा जाता है। इस दौरान यात्रा से विशेषतः बचा जाता है। चुनाव तारीखों की घोषणा का समय पूर्व निर्धारित था। ऐसे में राहुकाल का दोष कम हो जाता है। इसके बावजूद मतदान प्रक्रिया के दौरान अप्रत्याशित अड़चनों के आने की आशंका प्रबल नजर आती है। 
लग्न कुंडली के अन्य पक्षों के अनुसार दलों में अंतर्विरोध यानी भीतरघात कम ही नजर आएगा। अधिकतर कार्यकर्ता पार्टी प्रत्याशी के साथ खड़े रहेंगे। राज्य स्तरीय दल गठबंधन की राजनीति से बलवान होंगे। 
शनि-केतु विद्या-बुद्धि के भाव में होने से उसे कमजोर कर रहे हैं। तार्किकता की अपेक्षा अफवाहों का हावी होना अक्सर बना रहेगा। ऐसे में जनता के मूड को समझना किसी भी सर्वे और चुनावी विश्लेषक के लिए दुष्कर होगा। चुनाव परिणाम निश्चित रूप से अप्रत्याशित होंगे। 

...

KNEWS !3 months ago

खबर

Maha Shivaratri: व्रत के दौरान खाने-पीने की चीज़ों का रखें खास ख्याल

महाशिवरात्रि का दिन भगवान शिव में गहरी आस्था रखने वाले भक्तों के लिए किसी महोत्सव से कम नहीं होती है। आज के दिन सभी भक्त भगवान शिव का आशीर्वाद पाने के लिए खास रीतियों से व्रत रख के शिवलिंग की पूजा करते हैं। माना जाता है कि इस दिन भगवान शिव और देवी पार्वती का विवाह हुआ था। इसीलिए शिव भक्त इसे विशेष धूमधाम के साथ मनाते हैं। वहीं मान्यता यह भी है कि इसी दिन भगवान शिव ने समुद्र मंथन से निकला विष पिया था। बता दें कि इस व्रत को सबसे ताकतवर व्रत भी कहा जाता है। 

महाशिवरात्रि के व्रत की खासियत 

महाशिवरात्र‍ि का व्रत अगले दिन सुबह तक चलता है। इस दौरान गर्म पानी और काले तिल से स्नान करें। माना जाता है कि इस तरह तन और मन, दोनों ही पवित्र होते हैं। इस दिन शिवलिंग को दूध और शहद से स्नान कराना चाहिए। अगर आप स्वस्थ हों तभी निर्जल व्रत रखें और दिनभर में ऊं नम: शिवाय का जाप करते रहें। इस दिन दान करना भी अच्छा रहता है।सूरज ढलने के बाद इस व्रत में कुछ ग्रहण नहीं किया जाता है। इस व्रत में कुट्टू का आटा, साबूदाना, सेंधा नमक, ताजे फल आदि ग्रहण करने चाहिए। 

किसको रखना चाहिए शिवरात्रि का व्रत

भगवान शिव के सभी भक्त महाशिवरात्रि के दिन व्रत रखते हैं। इस दिन व्रत रखने से भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं और भक्तों पर अपनी कृपा करते हैं। ये भी मान्यता है कि जो कुंवारी कन्याएं महाशिवरात्रि के दिन व्रत करती हैं, उन्हें बहुत अच्छा पति मिलता है। वहीं, सुहागिन महिलाओं द्वारा इस दिन व्रत करने से उनके पति की उम्र तो लंबी होटी ही है और साथ ही सभी उनके जीवन की सभी समस्याएं भी खत्म होती हैं। 

महाशिवरात्रि की पूजा में इन बातों का रखें ख़ास ख्याल, भूल कर भी न करे ये गलती.... (आगे पढ़े)

व्रत के दौरान इन चीजों का करें सेवन

व्रत करने वाले लोगों को इस दिन सुबह के समय फलाहार करना चाहिए। फलों में संतरा, सेब, पपीता आदि फलों का सेवन कर सकते हैं। 

ठंडाई - शिवरात्रि के दिन कुछ लोग ठंडई में भांग मिलाकर भी पीते हैं। मान्यता है कि भगवान शिव को भांग बहुत प्रिय है। लेकिन यह ज़रूरी नहीं की आप ठंडाई भांग मिलाकर ही पीएं।साबूदाना - व्रत के दौरान आप साबूदाने का भी सेवन कर सकते हैं। साबूदाना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसके सेवन से शरीर को जरूरी न्यूट्रिएंट्स मिलते हैं। 

कुट्टू के आटे का करें सेवन
महाशिवरात्रि के व्रत में कुट्टू के आटे का ही इस्तेमाल करें। कुट्टू का आटा सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसके सेवन से सेहत संबंधित कई समस्याएं दूर हो जाती हैं। 

मखाने का सेवन करें- महाशिवरात्रि के व्रत में मखाने का सेवन खीर बनाकर या फ्राई कर के कर सकते हैं। मखाने में भरपूर मात्रा में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। इसलिए इसके सेवन से शरीर में ऊर्जा बनी रहती है। साथ ही महाशिवरात्रि का व्रत करते समय मूंगफली और मीठी चीजों का सेवन भी किया जा सकता है। 

जूस है जरूरी- व्रत के दौरान जूस का सेवन करते रहें, ताकि शरीर में ऊर्जा बनी रहे। 

मांस-मछली से दूर रहें- व्रत करने वाले लोग गलती से भी इस दिन मांस-मछली को हाथ न लगाएं। सिर्फ सात्विक भोजन ही करें। 

...

KNEWS !3 months ago

खबर

जानें हाथ में चांदी पहनने से कैसे बदल सकती है किस्मत...

धन की कमी हर किसी को होती है चाहे वो अमीर हो या गरीब !! लेकिन इस कमी को पूरी करने में सिर्फ मेहनत ही काम नहीं आती है क्योंकि कई बार हमारी किस्मत में दोष होते है जो हमें सफल होने से रोकते है. भले विज्ञान क्यों नहीं मानती लेकिन कई बाते ऐसी होती है जो सिर्फ ज्योतिष विद्या से ही हल हो सकती है. कई लोगो के घर में पैसे नहीं टिकते और वे रोज़ के आम आदमी से अधिक मेहनत भी करते है जब वही लोग अपने घर से गृह दोष दूर कर देते है तो सब ठीक हो जाता है उस परिश्रम करने वाले व्यक्ति को भी अपनी मेहनत का कडा फल मिलना शुरू हो जाता है. 

किस्मत से जुडा रहने वाला शुक्र जब कमज़ोर हो जाता है तो किस्मत में भी बुरा असर दिखने लग जाता है यही वजह है की पैसो को लेकर काफी तंगी आती रहती है. ऐसी गंभीर स्थिति में शुक्र को मज़बूत करना जरुरी बन जाता है और शुक्र गृह को नियंत्रण रखा है राशि के अनुसार तो आप को हम कुछ सुझाव देंगे। 

तेज रफ्तार गाड़ी डिवाइडर से टकराकर पलटी, ड्राईवर की गाड़ी में फंसकर मौत .... (आगे पढ़े)

दायिने हाथ के किसी भी अंगूठे या अंगुली में अंगूठी पहन ले वो भी चांदी की इससे आपके शुक्र की दशा ये बदल देगा। पहली बात तो यह है की आप यदि हो सके तो शुक्रवार के दिन नमक का सेवन नहीं करे तो अच्छा है इससे शुक्र गृह मज़बूत हो जाता है। 

धन कामना सिर्फ मेहनत और तंत्र मंत्र से नहीं होता लेकिन थोड़ा सा आत्मा विश्वास होना भी जरूर है इसलिए अपने ऊपर विश्वाश रखे। अंगूठे में चांदी का छल्ला पहनना भी काफी फायदेमंद माना गया है। 

...

KNEWS !4 months ago

खबर

शुक्र के धनु राशी में प्रवेश से इन राशियों पर पड़ेगा असर

शुक्र को धन समृद्धि मान-सम्मान सौंदर्य का ग्रह माना गया है. ज्योतिष के अनुसार, जीवन में ऐश्वर्या की प्राप्ति के लिए शुक्र ग्रह का मजबूत होना बहुत जरूरी है. शुक्र के राशि परिवर्तन से हर राशि के लोगों की आर्थिक स्थिति, स्वास्थ्य, प्यार, पारिवारिक जीवन, भोग विलास पर बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ता है. 29 जनवरी 2019 को शुक्र धनु राशि में प्रवेश कर रहे हैं. शुक्र इस राशि में लगभग एक महीना तक रहेंगे. 

मेष-  नवम भाव में शुक्र का गोचर हर तरीके से समाज में मेष राशी वालों की सक्रियता बढ़ाएगा. पिता की स्थिति को और ज्यादा बेहतर करेगा और आर्थिक स्थिति को भी पहले से मजबूत करेगा.

वृषभ- आठवें भाव में शुक्र का गोचर दूसरी जााति के लोगों से आप की नजदीकी बढ़ाएगा. आप आरामदायक जिंदगी जीना पसंद करेंगे. कार्यक्षेत्र में आपको कोई बड़ा अवसर भी मिलेगा. 

मिथुन- सातवें भाव में शुक्र का गोचर आपकी सेहत में कुछ परेशानी कर सकता है. वहीं, शुक्र का गोचर आपके कार्यक्षेत्र में बदलाव भी लाएगा. लेकिन यह बदलाव आपके लिए शुभ नहीं होगा.

कर्क- छठे भाव में शुक्र का गोचर रोगों में बढ़ोतरी करेगा और उनके प्रतिस्पर्धी से उनका वाद-विवाद जरूर कराएगा. इस समय आपको अपने काम पर ध्यान देने की जरूरत है. 

सिंह- पंचम भाव में शुक्र का गोचर आपके प्रेम संबंधों में मधुरता लाएगा. आपको बच्चों की तरफ से अच्छी खबर सुनने को मिलेगी. आपका मान-सम्मान पहले से बेहतर होगा.

कन्या- चतुर्थ भाव में शुक्र का गोचर आपके घर की समस्याओं को खत्म करेगा और नया घर खरीदने के लिए प्रेरित करेगा. अपने वाहन को ध्यान से चलाएं अन्यथा उस में खराबी आने का प्रबल योग बन सकता है. शुक्र के अशुभ प्रभाव को दूर करने के लिए अपनी पत्नी का सम्मान करें.

तुला- शुक्र का गोचर आपके छोटे भाई बहनों से आपके संबंध को मधुर बनाएगा. छोटी-छोटी यात्राओं पर जाने का प्रबल योग बनेगा. तीसरे भाव में शुक्र का गोचर आपकी मेहनत के द्वारा आपके रुके हुए पैसे को दिलवाएगा.

वृश्चिक- दूसरे भाव में शुक्र का गोचर आपके परिवार में अन्न धन को बढ़ाएगा और परिवार के बाद विवाद को हमेशा के लिए खत्म करेगा. परिवार में मांगलिक उत्सव भी करवाएगा. शुक्र को अच्छा करने के लिए घर में गंदे कपड़ों को इधर उधर ना फैलाएं.

धनु- शुक्र का गोचर स्वास्थ्य में कुछ गड़बड़ियां पैदा करेगा. यह शुक्र का गोचर बने बनाए काम भी बिगाड़ सकता है. अकारण किसी से वाद-विवाद को बढ़ाकर धन की हानि करवा सकता है.

मकर- बारहवें घर में शुक्र का गोचर अकारण धन का अधिक खर्च कराएगा. छोटी-बड़ी यात्राएं कर सकते हैं. किसी रिश्तेदार से आपका वाद-विवाद हो सकता है. यह आपका दूसरी जगह कहीं प्रेम संबंध भी करवा सकता है. इसलिए अपने आचरण पर ध्यान रखें.

कुंभ- ग्यारहवें घर में शुक्र का गोचर धन की खूब बढ़ोतरी करेगा. मान-सम्मान की भी प्राप्ति होगी. रुके हुए काम बनने लगेंगे. लेकिन विद्यार्थियों को अपनी पढ़ाई पर जरूर ध्यान देना होगा. 

मीन- दशम भाव में शुक्र का गोचर कार्य क्षेत्र में बहुत बढ़ोतरी देगा. यही शुक्र का गोचर कार्य क्षेत्र में बदलाव को लेकर भी अच्छा करेगा. नौकरी व्यापार से संबंधित समस्त परेशानियां खत्म होंगी. उधार दिया हुआ धन भी वापस लौटने की संभावना बनेगी. अपने खर्चों पर नियंत्रण रखना होगा.

...

KNEWS !4 months ago

खबर

आज है साल का पहला चंद्र ग्रहण, भूल कर भी नहीं करने चाहिए ये काम

साल 2019 का सबसे पहला चंद्र ग्रहण 21 जनवरी यानि आज लग रहा है. बताया जा रहा है इस साल 2 बार चंद्र पर ग्रहण लगेगा और तीन बार सूर्य ग्रहण लगेगा. आज साल का पहला चंद्र ग्रहण लग रहा है. इसके बाद इस साल का दूसरा और आखिरी चंद्र ग्रहण 16 जुलाई 2019 को लगेगा. आज लग रहे ग्रहण की कुल अवधि 3 घंटे 30 मिनट की होगी. यह एक पूर्ण चंद्र ग्रहण माना जा रहा है. यह चंद्र ग्रहण कर्क राशि और पुष्य नक्षत्र में लगा है. भारत में यह ग्रहण दिखाई नहीं देगा. बल्कि, यह ग्रहण दक्षिण अमेरिका, यूरोप, अफ्रीका और मध्य महासागर में दिखाई देगा. लेकिन इस ग्रहण का प्रभाव सभी पर सामान तौर पर पड़ेगा. धार्मिक मान्यता और ज्योतिषीय में चंद्र ग्रहण के दौरान कुछ कार्यों के करने को वर्जित माना जाता है.

चंद्र ग्रहण के समय, आरम्भ व समाप्त 

21  जनवरी  सोमवार ग्रहण आरम्भ- सुबह 9 बजकर 4 मिनट.

ग्रहण मध्य- परम ग्रास- सुबह 10 बजकर 42 मिनट.

ग्रहण स्पर्श समाप्त- सुबह 11 बजकर 13 मिनट.

ग्रहण समाप्त- दोपहर 12 बजकर 21 मिनट.   

जानिये चंद्र ग्रहण के दौरान कौन से काम वर्जित हैं: 

1. ग्रहण के दौरान देव पूजा को वर्जित माना जाता है. यही कारण है कि ग्रहण लगने पर मंदिरों के कपाट बंद कर दिए जाते हैं.

2. चंद्र ग्रहण के दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए.

3. ज्योतिषीय धारणा के मुताबिक, चंद्र ग्रहण के दौरान नाखून और बाल काटने को अशुभ माना जाता है.

4. चंद्र ग्रहण के दौरान खाना बनाने और खाने से बचना चाहिए.

5. चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को ग्रहण की छाया से दूर रहना चाहिए. मान्यता है कि ग्रहण की छाया गर्भ में पल रहे शिशु को नुकसान पहुंचा सकती है.

...

KNEWS !5 months ago

खबर

21 जनवरी को साल का पहला चंद्र ग्रहण, जाने चंद्रग्रहण के बारे में

चंद्रग्रहण अत्यंत महत्वपूर्ण खगोलीय घटना है. इस दौरान राहु-केतु के नॉडल पाइंट्स की सीधी रेखा में सूर्य-पृथ्वी-चंद्रमा आते हैं. 21 जनवरी को साल 2019 का पहला चंद्रग्रहण लगेगा. इस बार चंद्रमा की स्वयं की राशि कर्क में यह ग्रहण बन रहा है. कर्क जलीय राशि है. अतः जल तत्व में हलचल अवश्यंभावी है. नदी झील समुद्र सरोवर के अतिरिक्त जीवों में मौजूद तीन-चौथाई जल की मात्रा भी प्रभावित हो सकती है. चंद्रग्रहण के प्रभावों के बारे में विस्तार से राशिवार बता रहे हैं.

मेष- व्यक्तिगत मामलों में धैर्य रखें. परिजनों से सहजता रखें. पर्सनल की अपेक्षा प्रोफेशनल क्षेत्र में अच्छा करेंगे. हृदय रोगों एवं ज्वारादि में अत्यधिक सावधानी रखें. कफ-विकार उभर सकते हैं.

वृष- संपर्क संचार बेहतर होगा. बंधुजनों से बनाकर रखें. अनावश्यक जोखिम से बचें. अफवाहों या सुनी सुनाई बातों की अनदेखी करें.

मिथुन- खानपान का अतिरिक्त ध्यान रखें. जीवनचर्या संतुलित रखें. देर रात तक न जागें. शुभ कार्यों से जुड़ने के अवसर बढ़ेंगे. अच्छे होस्ट या गेस्ट बने रहेंगे. हरी वस्तुओं का दान करें.

कर्क- सहजता सहयोग सामंजस्य सरलता रखें. मनोबल से जीत होगी. ध्यान एवं भजन से जुड़ें. आस्था और विश्वास से अवरोध कम होंगे. साझा प्रयासों में सावधानी बढ़ाएं.

सिंह- रिश्तों में मधुरता रखें. न्यायिक मामलों में सावधानी रखें. स्वास्थ्य संकेतों की लापरवाही से बचें. निवेश टालें. ठगे जाने की आशंका है. मौसमी सावधानी रखें. 

कन्या- कार्यक्षेत्र में अतिरिक्त सावधानी रखें. लाभ अच्छा बना रहेगा. विस्तार की योजनाएं टालें. ठगे जाने की आशंका है. पारिवारिक मामलों में धैर्य रखें. साझा कोशिशें प्रभावित हो सकती हैं.

तुला- समय अनुकूल है. सहज गति से आगे बढ़ते रहें. बड़ों से बनाकर चलें. प्रशासन प्रबंधन से जुड़े मामलों में सतर्कता रखें. पैतृक पक्ष से तालमेल रखें. संपत्ति विवाद उभर सकता है.

वृश्चिक- कार्यक्षेत्र में अनुकूलता रहेगी. सबका सहयोग समर्थन मिलेगा. योजनाओं को गति दे पाएंगे. चर्चाओं में प्रभावी रहेंगे. स्वास्थ्य की अनदेखी से बचें.

धनु- रक्त दोषों के उभरने की आशंका. अपरिचितों से सतर्क रहें. लोभ व प्रलोभन में आने से बचें. अस्थमा राजरोग इत्यादि में सावधानी रखें. 

मकर- साझा प्रयासों को बढ़ावा मिलेगा. चर्चाओं में सावधान रहें. जीवनसाथी की सहजता का ध्यान रखें. साहस पराक्राम को बल मिलेगा. लाभ में वृद्धि होगी. गठिया रोगों का बचाव रखें. 

कुंभ- पेशेवर बेहतर बने रहेंगे. जिम्मेदारियों को बखूबी निभाएंगे. मेहनत की तुलना में लाभ का प्रतिशत सीमित होगा. 

मीन- पेशेवरता बढ़त पर रहेगी. मित्रों का सहयोग मिलेगा. मान सम्मान में वृद्धि होगी. प्रेम संबंधों में सावधानी रखें. अतिउत्साह में बात प्रभावित हो सकती है. 

...

KNEWS !5 months ago

खबर

Makar Sankranti Special: खिचड़ी के हैं चार यार- घी, पापड़, दही और अचार

मकर संक्रांति साल का पहला त्यौहार होता है और इस दिन का बड़ा ही महत्व होता  है। मकर संक्रांति आहट देती है कि कुछ ही दिन बाद बसंत आने वाला है.बसंत का रंग पीला होता है, खिचड़ी भी पीली होती है. बसंत को कोमल मगर अंदर तक मार करने वाला कहा जाता है, खिचड़ी भी नर्म होने के बावजूद अंदर तक गर्मी देती है. बसंत प्रेम की ऋतु है, खिचड़ी के भी चार यार होते हैं; पापड़, घी, दही और अचार। 

 

किसी 5 स्टार होटल से कम नहीं कुम्भ के ये टेंट .... (आगे पढ़े)

 

पंत कहते हैं कि पंजाब की चना दाल खिचड़ी से लेकर दक्षिण की पोंगल तक सबका अपना महत्व है. कोई लाख मुंह बनाए लेकिन खिचड़ी के महत्व से इनकार नहीं किया जा सकता.मकर संक्रांति शायद एक इकलौता ऐसा त्योहार है जिसका नामकरण किसी खाने के व्यंजन पर भी है. इसी बात को ऐसे भी कह सकते हैं कि खिचड़ी ऐसा भोजन है जिसके नामपर एक त्योहार है. अगर आप न जानते हों तो बता दें कि गोरखपुर और देश में कई जगहों पर मकरसंक्रांति को खिचड़ी के त्योहार के तौर पर मनाते हैं. देश भर में खिचड़ी के कई अलग रूप हैं। 

...

KNEWS !5 months ago

खबर

भूत-प्रेत बाधाओं से बचने के लिए हमेशा रखें ये चीज साथ

कृष्ण भगवान की बांसुरी लोकप्रय  वस्तु है, इसे घर में रखना बहुत ही शुभ माना जाता है। वास्तुशास्त्र के आधार पर बांसुरी का बड़ा महत्व है  ये माना जाता है कि जिस घर में बांसुरी होती है उस घर से नकारात्मक ऊर्जा दूर रहती है, आइए जानते हैं वास्तुशास्त्र में क्यों दिया जाता है बांसुरी को इतना महत्व.....

....

 

14 जनवरी से इन राशिवालों की खुलेगी किस्मत.... (आगे पढ़े)

वास्तुशास्त्र के अनुसार जिस घर में बांसुरी होती है, वहां भगवान कृष्ण की विशेष कृपा रहती है, इसी कारण घर सकारात्मकता से भरा रहता है और घर में सुख - समृद्धि बनी रहती है।

जिस व्यक्ति पर भूत - प्रेत का साया हो वह अगर बांसुरी को अपने हाथ में रखता है तो बुरी  आत्माएं उसे नुकसान नहीं पहुंचा पाती हैं। 

 

 

 

 

जिस घर में प्रतिदिन सुबह - शाम बांसुरी का वादन होता है उस घर में सुख - शांति बनी रहती है। अगर किसी का व्यापार सही तरीके से नहीं चल रहा है तो ऐसे व्यक्ति को अपने व्यवसायिक स्थल पर बांसुरी रखनी चाहिए, ऐसा करने से व्यवसाय में सफलता मिलती है।

...

KNEWS !5 months ago

खबर

14 जनवरी से इन राशिवालों की खुलेगी किस्मत

नया साल शुरू हो चुका है लेकिन एक खास राशिवाले लोगो के लिए ये साल बहुत ही बेहतर रहने वाला है। इस राशि के जातकों को इस साल हर क्षेत्र में सफलता प्राप्त होगी और 14 जनवरी के बाद से इनकी बंद किस्मत के ताले खुल जाएंगे। इस राशि के जातक इस साल जिस काम को आपने हाथ में लेंगे उसमें इनको कामयाबी हासिल होगी। इस साल इस खास राशि के जातकों को धन की प्राप्ति तो होगी ही साथ ही इनके मान - सम्मान में भी वृद्धि होगी।

अगर ये मन लगाकर कार्य करेंगे तो इस साल सफलता इनके कदम चूमेगी। आप जरूर जानना चाहेंगे इस खास राशि के बारे में तो आपको बता दें मीन राशि के जातकों के लिए ये साल काफी अच्छा रहने वाला है। इन राशिवालों के ऊपर माता लक्ष्मी कि ख़ास कृपा है. इस साल उनपर धन की वर्षा होने की विशेष सम्भावना है. 

करियर के मामले में साल 2019 मीन राशि के जातकों के लिए काफी अच्छा रहेगा।

...

KNEWS !5 months ago

खबर

कल लगेगा इस साल का पहला सूर्य ग्रहण- जाने क्या न करें

साल 2019 में 3 बार सूर्य पर लगने वाला है ग्रहण. इनमें सबसे पहला सूर्य ग्रहण साल के पहले महीने 6 जनवरी रविवार को लगेगा. भारतीय समय के अनुसार यह प्रातः 05.04 पर शुरू होकर 09.18 पर खत्म होगा. इस ग्रहण की कुल अवधि लगभग 04 घंटे 14 मिनट तक होगी. यह ग्रहण धनु राशि और पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में होगा. भारत में यह आंशिक सूर्य ग्रहण दिखाई नहीं देगा. इसलिए सूतक संबंधी नियमों का पालन करने की जरूरत नहीं है.

इस ग्रहण में सूर्य का संयोग शनि बुध और चंद्र से बनेगा. सूर्य शनि और चंद्र का प्रभाव होने से दुर्घटनाओं की संभावना बन सकती है. साथ ही राजनैतिक रूप से भयंकर उथल पुथल होने की भी संभावना है. इस ग्रहण प्रभाव लगभग एक पक्ष तक बना रह सकता है. ग्रहण के दौरान कुछ काम करना वर्जित माने जाते हैं. इसलिए ग्रहण लगने के दौरान भूलकर भी ये काम न करें.

सूर्य ग्रहण के दौरान न करें ये काम-

 

 

1. गर्भवती महिलाओं को ग्रहण की छाया से बचने की सलाह दी जाती है. मान्यता है कि ग्रहण की छाया का प्रभाव गर्भ में पल रहे बच्चे पर पड़ने से बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है.

2. ग्रहण के समय भोजन और पानी का सेवन नहीं करना चाहिए. कई शोध में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि ग्रहण के समय व्यक्ति की पाचन शक्ति बहुत कमजोर हो जाती है. ऐसे में भोजन करने से व्यक्ति के बीमार पड़ने की भी संभावना रहती है.

3. ग्रहण के दौरान किसी भी शुभ काम की शुरुआत करने से उस काम में असफलता ही मिलती है. 

4. ग्रहण के दौरान पूजा, उपासना वर्जित है. यही कारण है कि ग्रहण के दौरान कई मंदिरों के कपाट बंद कर दिए जाते हैं.

5. ग्रहण लगने के दौरान कभी भी सोना नहीं चाहिए.

 

...

KNEWS !5 months ago

मुख्य ख़बरे

शालिग्राम का महत्व, घर में रखने से क्या हैं इसका लाभ, पढ़े ......

राशिनुसार जानें- बृहस्पति के वृश्चिक में गोचर से क्या हलचल मचेगी आपके जीवन में ...

जानें राहु-केतु आपकी जिंदगी पर क्या असर डालते हैं ...

साप्ताहिक राशिफल- 14 अक्टूबर 2018 - 20 अक्टूबर 2018 ...

आज इन 3 राशि वालों पर प्रसन्न हैं मातारानी ...

वैदिक ज्योतिष में चंद्र ग्रह का महत्व...

जोश-ए-जवानी

भारत में ऐसे लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है जिनमें सेक्स के प्रति इच्छा में कमी देखी जा रही है और ज्यादातर लोग अपराधबोध की वजह से इस बारे में खुलकर बात भी नहीं कर पाते हैं लेकिन क्या आप जानते है कैसे सेक्स आपकी कैलोरी बर्न करने में मदद करता है, दरअसल कुछ वक्त पहले एक स्टडी सामने आई थी, जिसमें कहा गया कि सेक्स से कैलोरी बर्न करने में मदद मिलती