Live Tv

Sunday ,22 Sep 2019

बॉम्बे ब्लास्ट का मोस्ट वांटेड हाफ़िज़ का साला मक्की गिरफ्तार

VIEW

Reported by Knews

Updated: May 15-2019 01:34:37pm
latest news, news, kanpur news, knews, breaking news, hindi news, hindi khabar, taza khabar,  big breaking news, bombay blast most wanted hafiz brother in law got arrested, बॉम्बे ब्लास्ट का मोस्ट वांटेड हाफ़िज़ का साला मक्की गिरफ्तार, pakistan, most wanted terrorist, hafiz saed, brother in law of hafiz makki, makki terrorist,

पाकिस्तान ने आतंकी संगठन जमात-उद-दावा के प्रमुख हाफिज सईद के साले और मुंबई हमले में मोस्ट वांटेड आतंकी अब्दुल रहमान मक्की को गिरफ्तार कर लिया है. अब्दुल रहमान मक्की की गिरफ्तारी पंजाब प्रांत के गुजरांवाला से हुई है. मक्की की गिरफ्तारी जमात-उद-दावा, फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन और जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े 11 संगठनों पर बैन लगने के कुछ दिन बाद हुई है. 

मक्की ने गुजरांवाला में सरकार के प्रतिबंधित संगठनों के खिलाफ भाषण दिया था. मक्की ने अपने भाषण में FATF के दिशानिर्देशों के अनुरूप उठाए गए कदमों की भी आलोचना की. वह जमात-उद-दावा और फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन के लिए फंड जुटा रहा था. उसे फिलहाल लाहौर की जेल में रखा गया है.

आतंकी संगठन जमात-उद-दावा में मक्की का काफी प्रभाव है. वह दूसरी कमान के नेता में रूप में जाना जाता है. मक्की भारत के खिलाफ जहर उगलने के लिए ही जाना जाता है. साल 2010 में भारत विरोधी बयान को लेकर वह सुर्खियों में भी रह चुका है. उसने पुणे के जर्मन बेकरी में धमाके के आठ दिन पहले मुजफ्फराबाद में भाषण दिया था और पुणे समेत भारत के तीन शहरों में आतंकी हमले करने की धमकी दी थी. भारत की मांग पर अमेरिका ने मक्की को आतंकी घोषित किया था.

पूरी खबर पढ़े....अमित शाह के रोड शो में ममता दीदी की दादागिरी, अमित शाह बोले 300 से ज्यादा सीटें जीत रहे

अब्दुल रहमान मक्की एक वीडियो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देते हुए कश्मीर को आजादी दिलाने की बात कहता नजर आ चुका है. भारत के खिलाफ हमेशा जहर उगलने वाले मक्की के सिर पर करीब 13 करोड़ रुपये (20 लाख डॉलर) का इनाम है. मक्की तालिबान सरगना मुल्ला उमर और अलकायदा सरगना अल-जवाहिरी का भी बेहद करीबी रहा है.

पाकिस्तान की आतंकवाद पर कार्रवाई 

पाकिस्तान ने जमात-उद-दावा, फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन और जैश-ए-मोहम्मद पर भी कार्रवाई की है. आतंकी संगठन पर कार्रवाई नेशनल एक्शन प्लान के तहत हुई. 

एनएपी के तहत जेयूडी और एफआईएफ के स्वामित्व वाली 500 से अधिक संपत्तियां अब तक पंजाब प्रांत में जब्त की जा चुकी हैं. पंजाब गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक पंजाब के 36 जिलों में, जेयूडी और एफआईएफ के स्वामित्व वाले स्कूल, कॉलेज, अस्पताल, डिस्पेंसरी,  एम्बुलेंस और स्ट्रीमर बोट को पंजाब सरकार ने अपने कब्जे में लिया है.