Live Tv

Tuesday ,25 Jun 2019

Diabetes: जो आम भी है और खतरनाक भी

VIEW

Reported by Knews

Updated: Jan 23-2019 03:17:46pm

क्या होता है मधुमेह ?

Diabetes (मधुमेह)  एक बहुत ही आम और खतरनाक बिमारी है . भारत में हर पांच में से एक व्यक्ति को diabetes है.  मधुमेह एक ऐसी बीमारी हैं जिसमें रोगी के खून में ग्लूकोज़ की मात्रा (blood sugar level) आवश्यकता से अधिक हो जाती है.ऐसा  दो  वजहों  से  हो सकता है : या तो आपका शरीर पर्याप्त मात्रा में insulin नहीं produce कर रहा है या फिर आपके cells produce हो रही इंसुलिन पर प्रतिक्रिया नहीं कर रहे. इंसुलिन एक हारमोन है जो आपके शरीर में carbohydrate और fat के metabolism को कण्ट्रोल करता है.मेटाबोलिज्म से अर्थ है उस प्रक्रिया से जिसमे शरीर खाने को पचाता है ताकि शरीर को उर्जा मिल सके और उसका विकास हो सके.हम जो खाना खाते हैं वो पेट में जाकर energy में बदलता है जिसे glucose कहते हैं.  अब काम होता है इस energy/glucose को हमारे body में मौजूद लाखों cells के अन्दर पहुचाना, और ये काम तभी संभव है जब हमारे pancreas (अग्न्याशय) पर्याप्त मात्रा में insulin produce करें. बिना इंसुलिन के glucose cells में प्रवेश नहीं कर सकता. और तब हमारे cells ग्लूकोज़ को जला कर शरीर को उर्जा पहुंचाते हैं. जब यह प्रक्रिया सामान्य रूप से नहीं हो पाती तो व्यक्ति मधुमेह से ग्रस्त हो जाता है.सामान्य स्वस्थ व्यक्ति में खाने के पहले blood में glucose का level  70 से 100 mg./dl रहता है। खाने के बाद यह level 120-140 mg/dl हो जाता है और फिर धीरे-धीरे कम होता चला जाता है। पर मधुमेह हो जाने पर यह level सामन्य नहीं हो पाता और extreme cases में 500 mg/dl से भी उपार चला जाता है.

मधुमेह के प्रकार: 

  1. Type 1 diabetes: यह तब होता है जब आपकी body insulin बनाना बंद कर देती है. ऐसे में मरीज को बाहर से इंसुलिन देनी पड़ती है . इसे  insulin-dependent diabetes mellitus, IDDM भी  कहते  हैं
  2. Type 2 diabetes: यह तब होता है जब आपके cells produce हो रही इंसुलिन पर प्रतिक्रिया नहीं करते.  इसे non-insulin-dependent diabetes mellitus, NIDDM भी  कहते  हैं
  3. Gestational diabetes:ये ऐसी महिलाओं को होता है जो गर्भवती हों और उन्हें पहले कभी diabetes ना हुआ हो.ऐसा pregnancy के दौरान खून में ग्लूकोज़ की मात्रा (blood sugar level) आवश्यकता से अधिक हो जाने के कारण होता.

महज 21 दिन का मौका इनकम टैक्स नहीं भरा, तो पड़ेगा भारी .... (आगे पढ़े)

डायबिटीज़ के लक्षण 

1. लगातार पेशाब आना:
जब आपको मधुमेह होता है, तो आपका शरीर चीनी में भोजन को तोड़ने में कम कुशल होता है। आम तौर पर आपका शरीर ग्लूकोज को पुनः अवशोषित करता है जब यह आपके गुर्दे से गुजरता है। किन जब आपको मधुमेह होता है, तो अतिरिक्त शुगर (ग्लूकोज) आपके खून में बढ़ जाता है।

2. अधिक प्यास:
जैसा कि ऊपर बताया गया है, जब आपको मधुमेह होता है, तो आपकी गुर्दे को अतिरिक्त चीनी अवशोषित करना पड़ता है। जिसके लिए बहुत सारे तरल पदार्थ की आवश्यकता होती है, इसलिए आपको अधिक प्यास लगती है

3. वजन घटना:
जब आप अक्सर मूत्र के माध्यम से चीनी खो देते हैं, तो आप कैलोरी भी खो देते हैं। इसके अलावा, मधुमेह आपके भोजन से चीनी को आपके कोशिकाओं तक पहुंचने से रोक सकता है। 4. अतिरिक्त भूख लगना:
भूख की अत्यधिक पीड़ा, मधुमेह का एक और लक्षण, रक्त शर्करा के स्तर में तेज उतार-चढ़ाव से आ सकता है। जब रक्त में शर्करा का स्तर घटता है, तो शरीर यह सोचता है कि इसे खिलाया नहीं गया है और अधिक ग्लूकोज की आवश्यकता होती है, जो कोशिकाओं को कार्य करने के लिये आवश्यकता होती है। 
5. थकान:
बेशक आप ज्यादातर समय थका हुआ महसूस करते हैं, क्योंकि जो भोजन आप ऊर्जा के लिए खा रहे हैं वह कोशिकाओं द्वारा प्रयोग नहीं किया जा रहा है। इसके अलावा, निर्जलीकरण भी आपके थकान को बढ़ाता है। 
6. धुंधली दृष्टि:
विकृत दृष्टि और रोशनी की कभी-कभी चमक देखना, उच्च रक्त शर्करा के स्तर का प्रत्यक्ष परिणाम होता है। आपके शरीर में द्रव का स्तर बदलना आपकी आंखों में लेंस को सूजा सकता है। इसके अलावा, जब रक्त में ग्लूकोज उच्च होता है, यह लेंस और आंख के आकार में परिवर्तन करता है। यह सब, लेंस की अपनी क्षमता खोने का और ठीक से काम न करने का कारण बनता है। 
7. कटौती और घावों का धीमी गति से उपचार:
कटौती, और घाव का जल्दी से ठीक न होना, मधुमेह का एक और उत्कृष्ट संकेत हैं। प्रतिरक्षा प्रणाली और प्रक्रियाएं जो शरीर को चंगा करने में मदद करती हैं, बहुत अच्छी तरह से काम नहीं करती हैं, जब आपके शर्करा का स्तर उच्च होता है। 
8. खमीर संक्रमण:
 मधुमेह आपके शरीर की प्रतिरक्षा को नीचे लाती है; संक्रमण और रोग अधिक होने की संभावना है। खमीर का आहार ग्लूकोज है और शरीर में बहुत अधिक होने से यह कामयाब होने लगता है। संक्रमण किसी भी गर्म, त्वचा के नम गुच्छे में बढ़ सकता है.महिलाओं को, विशेष रूप से, योनि कैंडिडा संक्रमण से सावधान रहना चाहिए।
9. झुनझुनी की अनुभूति:
आपके रक्त में अतिरिक्त चीनी से तंत्रिका क्षति हो सकती है। आप अपने हाथों और पैरों में झुनझुनी और सनसनी की कमी महसूस कर सकते हैं, साथ ही साथ अपनी बाहों, हाथों, पैरों और पैरों में दर्द का दर्द देख सकते हैं।
10. शुष्क मुँह और खुजली वाली त्वचा:
मधुमेह रोगाणुओं से लड़ने की आपकी क्षमता को कमजोर कर सकता है, जिससे आपके मसूड़ों में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। आपके मसूड़ों को अपने दांतों से दूर खींच सकते हैं, आपके दाँत ढीले हो सकते हैं, या आपके मसूड़ों में घाव या मवाद विकसित कर सकते हैं। इसके अलावा, निर्जलीकरण के कारण शुष्क मुंह और खुजली वाली त्वचा सकती है।

Diabetes से सम्बंधित कुछ facts:

  • Type 2 Diabetes से ग्रस्त लोग स्वस्थ्य लोगों की अपेक्षा 5 – 10 साल पहले मर जाते हैं.
  • Type 2 Diabetes सबसे common form of Diabetes है.
  • Diabetes किसी भी age group के लोगों को हो सकता है, बच्चों को भी.
  • भारत में,इलाज ना करा पाने के कारण हर साल करीब 27000 बच्चे मधुमेह की वजह से मर जाते हैं.
  • भारत में 5 में से 1 व्यक्ति diabetes से प्रभावित है.
  • अगर इसे control ना किया जाये तो ये heart-attack,blindness, stroke (आघात), या kidney failure में result कर सकता है.
  • स्वस्थ खा कर और physical activity  को बढ़ा कर टाइप २ मधुमेह को 80 % तक रोका जा सकता है.
  • यह एक अनुवांशिक बिमारी है. यानि यदि परिवार में पहले किसी को ये बिमारी रही हो तो आपको भी हो सकती है.

Diabetes हो जाने पर क्या करें:

  • नियमित रूप से blood sugar की जांच कराते रहे.
  • परहेज करना बहुत ही आवशयक है, असावधानी बाद में घातक हो सकती है. बाद में blindness, amputation या dialysis का सामना करने  से कहीं आसान होगा परहेज करना.
  • दवाओं के सेवन को हलके में ना लें , और डॉक्टर के बताये हुए समय पर दावा अवश्य लें.
  • स्वस्थ खाएं और active रहे. व्यायाम करके इस काफी हद तक control किया जा सकता है.
  • संभव हो तो खाना खाने के लिए अपने जैसा ही साथी चुने, इससे अपने जीभ को control करना आसान होगा.
  • पर्याप्त मात्रा में नीद लें.
  • सुबह या शाम को टहलने की आदत डालें.

 

महज 21 दिन का मौका इनकम टैक्स नहीं भरा, तो पड़ेगा भारी .... (आगे पढ़े)

 Diabetes के Symptoms

  • अधिक प्यास या भूख लगना
  • अचानक वज़न का घट जाना
  • लगातार कमजोरी और थकावट महसूस करना
  • घाव भरने में ज्यादा वक़्त लगना
  • बार-बार पेशाब होना
  • चीजों का धुंधला नज़र आना
  •  त्वचा में संक्रमण होना और खुजली होना

Diabetes में किन खाने-पीने  की चीजों को avoid करें :

धूम्रपान,चीनी, मिठाई,ग्लूकोज, मुरब्बा, गुड़, आइसक्रीम, केक, पेस्ट्री, मीठा बिस्कुट,चॉकलेट, शीतल पेय, गाढ़ा दूध, क्रीम,तला हुआ भोजन,मक्खन, घी, और हाइड्रोजनीकृत वनस्पति तेल, सफेद आटा,जंक फूड,कुकीज़, डिब्बा बंद और संरक्षित खाद्य पदार्थ, इत्यादि.

Diabetes में किन खाने-पीने  की चीजों का सेवन करें :

खूब पानी पीएं ,अंगूर,अनार का रस, भारतीय ब्लैकबेरी, केला,सेब, अंजीर,  काली बेरी, कीवी फल, खट्टे,फल,ककड़ी, सलाद पत्ता, प्याज, लहसुन ,मूली,टमाटर, गाजर, पत्तियों, पालक शलजम, गोभी और  रंगीन सब्जियों, बिना शक्कर फलों के रस, कच्चा केला,कच्ची मूंगफली, टमाटर, केले,खरबूजे, सूखे मटर, आलू, सेब साइडर सिरका, स्किम्ड दूधपाउडर, गेहूं,दलिया, बादाम, मटर, अनाज,छोला, बंगाल चना , काला चना,दाल , मकई , सोया अंकुरित फलियां, रोटी,गेहूं की भूसी, whole grain bread,मट्ठा, दही, इत्यादि.

                                                                                                              तनूजा रावत