Live Tv

Friday ,19 Apr 2019

Election 2019: पहले चरण के मतदान में किसके लिए अच्छी खबर, किसके लिए बुरी खबर...क्या है रुझान

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Apr 12-2019 10:15:07am
latest news, news, kanpur news, knews, breaking news, hindi news, hindi khabar, taza khabar, election 2019 first phase voting NDA vs. mahagathbandhan, BJP vs. mahagathbandhan, uttar pradesh, election 2019, loksabha election 2019, uttrakhand, west bengal, narendra modi, opposition,

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए पहले चरण की वोटिंग गुरुवार 11 अप्रैल को पूरी हुई. 20 राज्यों की 91 सीटों पर करीब 60 फीसदी लोगों ने वोट डाले. 2014 में इन्हीं 91 सीटों पर 66.4 फीसदी मतदान हुए थे. आंकड़ों की माने तो ये पिछली बार की तुलना में करीब साढ़े 6 फीसदी कम है. पहले चरण की वोटिंग के बाद से सभी सियासी दल आकलन करने में जुटे हैं कि उनके पक्ष में किस तरह से हवा बह रही है. 

पहले चरण की जिन 91 सीटों पर गुरुवार को वोट पड़े हैं, वहां पर कुल 1239 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. इन सभी उम्मीदवारों का फैसला EVM में कैद हो गया है, जिसके नतीजे 23 मई को आएंगे. पहले चरण में सबसे ज्यादा मतदान पश्चिम बंगाल में 81 फीसदी रहा और सबसे कम बिहार में 50 फीसदी रहा. जबकि पश्चिम उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर हुए चुनाव में 64 फीसदी मतदान हुआ.

पहले चरण की जिन 91 लोकसभा सीटों पर वोटिंग हुई. 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी 32 सीटें जीतने में सफल रही थी. जबकि कांग्रेस के पास महज 7 सीटें जीती थी. इसके अलावा 16 सीटें टीडीपी के पास, 11 टीआरएस, 9 सीटें वाईएसआर कांग्रेस, 4 सीटें बीजेडी और 12 सीटें अन्य दलों ने जीती थी.

पूरी खबर पढ़े....नरेंद्र मोदी की बायोपिक के बाद अब, NaMo TV पर भी चुनाव आयोग ने लगाई रोक

बीजेपी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में जिन 32 सीटों को जीता था. इनमें यूपी की सभी 8 सीटें, उत्तराखंड की सभी 5, महाराष्ट्र की 7 में से 5, असम की 5 से 4, बिहार की 4 में 3 सीटें बीजेपी ने जीती थी. दिलचस्प बात ये है कि बिहार की जिन चार सीटों पर गुरुवार को वोटिंग हुई है, बीजेपी उन चार में से महज एक सीट पर चुनावी मैदान में है. बाकी तीन सीटों पर सहयोगी दल के जेडीयू और एलजेपी के उम्मीदवार मैदान में हैं.

बीजेपी महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ मिलकर चुनावी मैदान में विपक्षियों को टक्कर देगी. इसके अलावा असम की जिन पांच सीटों पर चुनाव वोटिंग हुई है उनमें से चार पर बीजेपी और एक पर उसके सहयोगी दल असम गण परिषद चुनाव मैदान में है. इसके अलावा बाकी राज्यों में बीजेपी अकेले चुनाव मैदान में उतरी थी.