Live Tv

Wednesday ,17 Jul 2019

गंभीर ने अरविंद केजरीवाल और आतिशी को भेजा मानहानि का नोटिस

VIEW

Reported by Knews

Updated: May 10-2019 10:01:02am
latest news, news, kanpur news, knews, breaking news, hindi news, hindi khabar, taza khabar, गौतम गंभीर,अरविंद केजरीवाल ,आतिशी,gautam gambhir,arvind kejriwal , atishiमानहानि का नोटिस , दिल्ली,  लोकसभास, अपमानजनक’ पर्चे , delhi news, cricekt news, ipl news, election new, election 2019, loksabha election 2019,  modi, arvind kejriwal, delhi election,

दिल्ली की 7 लोकसभा सीटों पर रविवार को मतदान किया जाएगा. लेकिन मतदान से तीन दिन पहले दिल्ली की सियासत गरमाई हुई है. बृहस्पतिवार को उत्तर पूर्वी दिल्ली की सीट से आप की उम्मीदवार आतिशी ने बीजेपी के उम्मीदवार गौतम गंभीर पर ‘आपत्तिजनक और अपमानजनक’ पर्चे बटवाने का आरोप लगया था. जिसके जवाब में गौतम गंभीर ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आतिशी को मानहानि का नोटिस भेज दिया है.

आतिशी ने कल प्रेस कांफ्रेंस कर गंभीर पर आरोप लगाए थे कि पर्चे में उनके लिए अपमाजनक शब्दों का इस्तेमाल किया गया है. प्रेस काॅफ्रेस में आतिशी के साथ मनीष सिसोदिया भी थे. आतिशी प्रेस काॅफ्रेस के बीच में ही रोने लगी थीं. आतिशी ने बताया कि पर्चे में उनकी मां के लिए उनके पती के लिए आपत्तिजनक शब्दों का बोले गए हैं. इसके आलवा भी कई ऐसी बाते थी जो वो बोल नहीं सकती हैं. आतिशी ने कहा कि क्या गौतम गंभीर ऐसे ही महिलाओं को सुरक्षा देंगे जब वो महिलाओं का सम्मान ही नहीं करते हैं. आतिशी के आरोपों के बाद पूरी आम आदमी पार्टी ने गंभीर पर हमला साधना शुरू कर दिया. महिला आयोग ने भी तुरंत पुलिस को नोटिस भेज दिया और पूछा कि आपने इस मामले में क्या कार्रवाई कि है.

गौतम गंभीर ने सभी आरोपों को नकार दिया और कहा कि उनके खिलाफ सभी आरोप झूठे हैं. मैं राजनीती में कुछ अच्छा करने आया हूं नाकि दूसरों को अपमानजनक शब्द कहने, आज राजनीति में कोई भी अच्छा आदमी नहीं आता हैं क्योंकि अरविंद केजरीवाल जैसे लोग चुनाव जीतने के लिए कुछ भी कर सकते हैं वो इतनी हद तक गिर जाएंगे इसकी उम्मीद नहीं थी.

गंभीर ने शुक्रवार सुबह ही केजरीवाल और आतिशी को मानहानि का नोटिस भेज दिया है. गंभीर ने चैलेंज करते हुए कहा कि जो आरोप आपने लगाए हैं अगर आरोप साबित होते हैं तो वो अपना नामांकान वापस ले लेंगे और चुनाव से हट जाएगें लेकिन आरोप साबित ना होने पर उन्हें सार्वजानिक तौर पर माफी मांगनी होगी.