Live Tv

Sunday ,22 Sep 2019

सरकारी सिस्टम अब राम भरोसे !

VIEW

Reported by Knews

Updated: Sep 10-2019 03:37:20pm
hamirpur himanchal pradesh dead body found news

हमीरपुर : कहते है किसी शव को शमशान पहुंचाने के लिए चार कंधो की जरूरत होती है.... लेकिन इस बदनसीब शव को देखिये..... जिसे अपनों के कंधे तो नसीब नहीं हुए... हां इसे वो मुन्नीराम का रिक्शा जरुर नसीब हो गया..... जिसके दिन रात में कभी कभार कोई सवारी बैठ कर कहीं जाती है .......रिक्से के साथ तीन लोग राम नाम सत्य बोलकर सरकारी सिस्टम की हकीकत बया कर रहे है...

वही बीच बीच में रिक्शा चालक मुन्नीराम सीटी बजाकर स्वास्थ महकमे के तमाम दावो की पोल खोल रहा है ........रिक्शे में शव को निकलते देख कर राहगीर रुक रहे है.... शव की अंतिम यात्रा को प्रणाम कर रहे है.... और उस सरकारी सिस्टम को कोस रहे है जिसमे एक बेबश बाप को चंद रुपयों के खातिर एम्बुलेंस नही मिली और उसे अपने बेटे के शव का सडको में तमाशा बनाना पड़ा,.....

 मामला हमीरपुर जिला मुख्यालय का है.... जहां मौदहा कोतवाली क्षेत्र के निवासी गयाराम के बेटे हरिशंकर की अचानक तवियत खराब हो गयी...परिजन से इलाज के लिए सामुदायिक केंद मौदहा लाये.... लेकीन वहां डॉक्टरो ने उसे हमीरपुर जिला अस्पताल रिफर कर दिया.... जहां इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया.... वहीं मजबूरन वृद्ध पिता को अपने बेटे के शव को पीएम के लिए ले जाने के लिए एम्बुलेंस करनी पड़ी ....जिसके लिए उसने 500 रुपये देने पड़े.... वही शव को पीएम के बाद उसे पीएम हाउस से शमशान ले जाने के लिए रिक्से में रख कर शमशान ले जाना पड़ा.... क्योकि उसके पास 500 रुपये एम्बुलेसं वालो को देने के लिए नही थे .....जिले में दो दो शव वहां होने के बाद भी लोगो को शव वाहन नही दिए जाते ................

ये पढ़े:  रुक जाना नहीं,तू कहीं हार के ISRO

ऐसे में सूबे की स्वास्थ महकमे के तमाम दावो सडको में दम तोड़ देते है...अब ऐसे में देखना होगा क्या कुछ अधिकारियों पर कार्रवाई होती हैं...

 

                                                        कानपुर से ऋषभ कांत छाबड़ा