Live Tv

Friday ,19 Apr 2019

क़र्ज़ में डूबी जेट एयरवेज, बचाने के लिए अब निवेश करेगी ये अरब की कंपनी

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Mar 12-2019 12:45:21pm
latest news, news, kanpur news, knews, breaking news, hindi news, hindi khabar, taza khabar,  jetairways, atihad to invest, abu dhaabi, 750 crore rupees, company in loss, jet airways in loss, tonny duglas, naresh goyal jet airways

Jet Airways के चेयरमैन नरेश गोयल ने अपनी सहयोगी एतिहाद से 750 करोड़ रुपये की आकस्मिक मदद मांगी है। इसके लिए उन्होंने एतिहाद को एक पत्र लिखकर कहा है कि अगर वो मदद नहीं करेंगे तो उनकी कम्पनी जेट एयरवेज बंद हो जाएगी। उन्होंने कंपनी के बहुत भारी नकदी संकट का सामना करने का उदाहरण देते हुए कहा कि कंपनी की हालत ‘बहुत अनिश्चित’ है। 

जाहिर है कि पट्टे पर लिए विमानों का किराया नहीं चुकाए जाने से कंपनी को अपने 50 से ज्यादा विमानों को खड़ा करना पड़ा है। एतिहाद समूह के मुख्य कार्यकारी टॉनी डगलस को पत्र में गोयल ने लिख कर कहा कि अंतरिम तौर पर कोष जुटाने के लिए उसने जेट प्रिवलेज में अपने शेयरों को गिरवी रखने के लिए विमानन मंत्रालय से मंजूरी भी ले ली है। इस लॉयल्टी कार्यक्रम में जेट की हिस्सेदारी 49.9 प्रतिशत है जबकि बहुलांश हिस्सेदारी एतिहाद की है। 

पूरी खबर पढ़े....LOKSABHA ELECTION 2019 SURVEY : नेट अप्रूवल रेटिंग में मोदी फिर एक बार आगे

एतिहाद के पास जेट में अप्रैल 2014 से 24 प्रतिशत हिस्सेदारी है। कंपनी अबू धाबी में सोमवार को अपने निदेशक मंडल की बैठक के दौरान जेट के समाधान पर विचार विमर्श करेगी। गोयल ने आठ मार्च को लिखे पत्र में कहा, ‘अगले हफ्ते की शुरुआत में तत्काल 750 करोड़ रुपये की पूंजी निवेश से इस एयरलाइन को बचाने के लिए मैं आपके समर्थन की उम्मीद करता हूं।’

इसके बाद कंपनी को कर्ज देने वाले बैंक सबसे बड़े हिस्सेदार बन जाएंगे, क्योंकि कंपनी को दिए गए कर्ज को एक रुपये के न्यूनतम मूल्य पर शेयर में परिवर्तित कर दिया जाएगा। शेयर धारकों ने भी इस पुनर्गठन योजना को 21 फरवरी को मंजूर कर दिया। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि यह अंतरिम मदद नहीं की गई, तो यह एयरलाइन के भविष्य के लिए बेहतर नहीं होगा और कंपनी बंद हो जाएगी।