Live Tv

Sunday ,22 Sep 2019

मुश्किलों की राह पर कमलनाथ !

VIEW

Reported by Knews

Updated: Sep 10-2019 03:27:49pm
kamalnath madhya pradesh congress cm SIT home minister BJP

चिदंबरम, डी. के. शिवकुमार जैसे कांग्रेस नेताओं के खिलाफ जांच एजेंसियों के कसते शिकंजे के बीच अब मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ सिख दंगे का केस दोबारा खोला जा रहा है..केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ 1984 के सिख विरोधी दंगों के मामलों को फिर से खोलने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है..शिरोमणि अकाली दल के दिल्ली के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने सोमवार को यह जानकारी दी...बता दें कि 2018 के मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद जब कमलनाथ मुख्यमंत्री बने थे...तब भी उनके खिलाफ 1984 सिख विरोधी दंगों के आरोपों का मामला उठा था...

सिरसा ने मीडिया से बाचतीत में यह भी दावा किया कि दो गवाह कमलनाथ के खिलाफ गवाही देंगे। उन्होंने कहा, ‘दो गवाह अपना लिखित बयान देने को तैयार हैं। हमने उनसे आज ही बात की है। जांच कर रही एसआईटी को हमने सूचित किया है। वह कोई एक दिन तय करके गवाही लेगी।’ सिरसा ने बताया कि उन्होंने दोनों गवाहों को सुरक्षा देने की भी मांग उठाई है क्योंकि दोनों एक राज्य के सीएम के खिलाफ गवाही देने वाले हैं

आपको बता दें कि...कांग्रेस के कई बड़े नेताओं पर इन दिनों जांच एजेंसियों का शिकंजा कसता जा रहा है...भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग के केस में पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम और कर्नाटक के दिग्गज डी. के. शिवकुमार जेल में हैं...कथित लैंड स्कैम के मामलों में हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा से ईडी कई बार पूछताछ कर चुकी है...सीबीआई ने अदालत से सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में शशि थरूर के खिलाफ हत्या या फिर आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में मुकदमा चलाने की गुजारिश की है...कमलनाथ के भांजे रतुल पुरी भी जेल में हैं...तो वहीं अब कमलनाथ के ऊपर भी सिख दंगे की आंच है...

                                                                                                                                              कानपुर से सृष्टि शुक्ला