Live Tv

Wednesday ,15 Jul 2020

पॉस्को एक्ट को मजबूत बनाने की कवायद शुरु

VIEW

Reported by Knews

Updated: Sep 09-2019 04:20:16pm
madya pradesh posso act girls teachers india rape marksheet head office Anjulata patel

एमपी के सीधी मे जिला मुख्यालय के पुलिस सभागार में लगभग 400 प्रधानाध्यापकों और अध्यापकों को पॉस्को एक्ट में जन्मतिथि प्रमाण पत्र के महत्व के संबंध में जानकारी दी गई. आपको बता दे कि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अंजुलता पटले ने कानूनी कमजोरियों का फायदा उठाकर नाबालिक को बालिक साबित करने वालों से निपटने के लिए सभी प्रधानाध्यापक और अध्यापकों से जन्म प्रमाण पत्र पंजी को विधिवत लिखने संबंधी प्रशिक्षण दिया.इस प्रशिक्षण के दौरान अंजुलता पटले ने बताया कि विद्यालय में प्रवेश के समय माता-पिता द्वारा लिखाई गई जन्मतिथि महत्वपूर्ण दस्तावेज है. उसे सावधानीपूर्वक लिखना चाहिए ताकी आगे चलकर कोई गलती ना हो.

प्रशिक्षण के दौरान पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जन्मतिथि लिखाते समय, अभिभावक से जन्मतिथि का प्रमाण जैसे नगरीय निकाय द्वारा जारी जन्म प्रमाण मांगना चाहिए. साथ ही उन्होने बताया कि बच्चे के नाम का पंजी में उल्लेख जिस स्थान पर किया गया है उस पर पारदर्शी टेप लगा देना चाहिए ताकि उससे छेड़छाड़ ना हो सके या स्याही धुल ना जाए. यदि त्रुटिवश जन्मतिथि में कोई सुधार कार्य आवश्यक हो तो इस पर छोटे हस्ताक्षर कर देना चाहिए व प्रथक से इसका रिकॉर्ड रखना चाहिए कि सुधार क्यों करना पड़ा.

प्रत्येक विद्यालय का रिकॉर्ड भारतीय साक्ष्य अधिनियम की धारा 35 के अंदर आते है. जोकि न्यायालय में साक्ष्य देते समय विद्यालय के प्रधानाध्यापक /अध्यापक /स्टाफ को स्थापित करना होता है कि विद्यालय के दस्तावेज सही एवं प्रमाणित हैं और यही सत्य है.