Live Tv

Wednesday ,17 Jul 2019

मानसून के आगाज़ की मौसम विभाग ने दी जानकारी, 6 जून को दे सकता है दस्तक

VIEW

Reported by Knews

Updated: May 15-2019 03:18:50pm
latest news, news, kanpur news, knews, breaking news, hindi news, hindi khabar, taza khabar,  big breaking news,  monsoon coming soon weather prediction says, weather report, weather prediction, मानसून के आगाज़ की मौसम विभाग ने दी जानकारी, 6 जून को दे  सकता है दस्तक, monsoon baarish, delhi, kerela

मौसम की निजी जानकारी देने वाली संस्था स्काईमेट के बाद अब बुधवार को मौसम विभाग ने भी मानसून के आगाज़ का अनुमान बता दिया है। भारतीय मौसम विभाग ने कहा है कि इस बार मानसून केरल में 6 जून को दस्तक देगा।

मौसम विभाग ने कहा है कि इस बार मानसून के देरी से आने की संभावना है। यह छह जून को केरल में दस्तक देगा। हालांकि इसमें चार दिन की देरी और हो सकती है। गौरतलब है कि हर साल 1 जून को मानसून केरल में दस्तक देता है। लेकिन अब मौसम विभाग के अनुसार इसकी शुरुआत में ही पांच दिन की देरी हो रही है। 

93 फीसदी बारिश होने का अनुमान

स्काईमेट ने 2019 में 93 प्रतिशत बारिश की संभावना जताई है। मौसम के पूर्वानुमान के अनुसार इस साल भारतीय उप महाद्वीप में मानसून शुरुआती दौर में थोड़ा कमजोर रहेगा। पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत तथा मध्य भारत में कम बारिश की आशंका है। जबकि उत्तर पश्चिम और दक्षिण भारत में स्थिति बेहतर होगी।

जून के आखिर में दिल्ली में दस्तक

इस साल दिल्ली-एनसीआर, पंजाब, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़ में मानसून के सामान्य रहने की संभावना है। जिसके चलते लोगों को गर्मी से कुछ राहत मिलने के आसार है। मानसून की बारिश का असर जून और जुलाई में अधिक दिखेगा। दिल्ली-एनसीआर में 29 जून के करीब मानसून की दस्तक होगी। जिसके बाद लोगों को गर्मी से राहत के आसार हैं। वहीं  इस साल महाराष्ट्र, विदर्भ, तमिलनाडु, कर्नाटक, झारखंड, बिहार, पश्चिम बंगाल में औसत से कम मानसून रहने की संभावना है। मौसम विभाग के आंकड़ों  के अनुसार जून - जुलाई अगस्त और सितंबर में देश के मौसम को लेकर निम्न पूर्वानुमान हैं।

  • अत्यधिक बारिश की संभावना 0 प्रतिशत है।
  • सामान्य से अधिक बारिश की संभावना 0 प्रतिशत है।
  • 30 प्रतिशत संभावना सामान्य बारिश की है ।
  • 55 प्रतिशत संभावना सामान्य से कम बारिश की है ।
  • 15 प्रतिशत संभावना सूखे की है ।