Live Tv

Tuesday ,12 Nov 2019

ऐसा बदलाव जिसकी कल्पना तक नहीं !

VIEW

Reported by Knews

Updated: Sep 12-2019 02:12:26pm
Muradabad teachers study old age village goodwork students

अगर इंसान के मन में कुछ करने का जज्बा हो और मंजिल को पाने की चाह हो तो कोई भी राह मुश्किल नही होती....क्यूंकि इसको सही साबित कर दिखाया है मुरादाबाद के गांव लालपुर गंगबारी के रहने वाले स्कूल संचालक शिक्षक मोहम्मद जावेद ने जिनके एक अनूठे प्रयास के चलते गाँव के ज्यादातर निरक्षर बुजुर्ग साक्षर हो रहे है.. आखिर शिक्षक ने गाँव मे ये मुहिम क्यों शुरू की और इसके पीछे क्या कारण रहे आपको यह भी बताते है....

शिक्षक मोहम्मद जावेद मुरादाबाद में अपने गांव लालपुर गंगवारी में एक स्कूल चलाते है..उन्हें पढ़ने वाले वाले बच्चों को लेकर एक परेशानी सामने आई कि स्कूल के बच्चों को जब होमवर्क दिया जाता था... तो बच्चे कभी होमवर्क करके ही नही लाते थे... फिर क्या था... इसका जब उन्होंने कारण खोजना शुरू किया तो पता चला कि गाँव के अधिकतर बुजुर्ग और परिजन निरक्षर है... जिस कारण बच्चे अपना होमवर्क पूरा नही कर पाते थे.... फिर क्या था बुलंद हौसले वाले जावेद ने गाँव मे नई मुहिम की शुरुआत की... जहां... गाँव के निरक्षर बुजुर्गों को साक्षर करने का बीड़ा उठा लिया...और इनकी शुरुआत अपने ही स्कूल में बुजुर्गों के लिये विशेष कक्षाएं संचालित कराकर शुरू की..और बच्चों के साथ घर की महिलायें को भी पढ़ाना और शिक्षा के लिए समझाना शुरू कर दिया..

इतना ही नही स्कूल के बच्चों से भी निरक्षर दादी-दादा मम्मी-पापा को घर पर भी पढ़ाने को कहा गया...स्कूल के बच्चों ने भी इस काम मे अपनी दिलचस्पी दिखाते हुये हर रोज घर पर होमवर्क करने के दौरान अपनी कॉपी किताबों से ही दादा-दादी मम्मी-पापा को पढ़ाना शुरू किया...वहीं अब बह अपनी इस मुहिम से अपने इलाके अन्य विद्यालयों को जोड़ने की तैयारी कर रहे हैं...

कुछ समय के बाद ऐसे बदलाव आए जिसकी उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की थी,,,, स्कूल के बच्चों को अब ना सिर्फ अपने बुजुर्ग दादी-दादा सहित परिवार को पढ़ाने में मजा आ रहा है... वहीं बुजुर्ग भी क्लास में अपने बच्चों के साथ बेझिझक होकर शिक्षा ले रहे है.

लालपुर गंगवारी की महिला ग्राम प्रधान भी इस मुहीम का हिस्सा हैं जो पहले निरक्षर थीं और इसी स्कूल में बच्चों के बीच बैठकर परीक्षा भी पास की है...जिनका कहना है कि बदलाव आ गया....कुछ समय के बाद अब ऐसे बदलाव आ गए हैं...  जिसकी उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की थी.. जो निरक्षर थे वो अब साक्षर हो गए हैं... दिन ब दिन लोग आगे बढ़ रहे हैं...और इस मुहिम का हिस्सा बन रहे हैं..