Live Tv

Sunday ,15 Sep 2019

तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर बनी दादी, गोबार थापते नजर आई

VIEW

Reported by Knews

Updated: Apr 16-2019 12:07:28pm
latest news, news, kanpur news, knews, breaking news, hindi news, hindi khabar, taza khabar,  तापसी पन्नू ,भूमि पेडनेकर, गोबार थापते  , saand-ki-aankh,बालीवुड ,  पोस्टर ,दादी का रोल ,  ''शूटर दादी' 700 , 'सांड की आंख'' , सोशल मीडिया,  पोस्टर जारी, दिवाली , तन बूढ़ा होता है, मन बूढ़ा नहीं होता. अनुराग कश्यप,  निधि तोमर, हिरानंदानी रिलायंस , यूपी,बागपत, up, delhi, mumbai, bollywood, hollywood, bollywood news, tadka news,  bollywood actress , tapu, bhumi, tapu nhumi, shooter dadim shooter dadi poster, sand ki aakh, poster, salman khan,  srk, aamir khan, ranveer singh, deepika, biopic, avangers, end game, movie, entertaitment news, isomes

बालीवुड की मशहूर अदाकारों में शुमार तापसी पत्रू और भूमि पेडनेकर कम उम्र में ही दादी बन गई है जीं हां सही पढ़ आप ने दोनों अदाकारों को गोबार थापते भी देखा गया है. दरसल, तापसी और भूमि ने अपनी नई फिल्म का पोस्टर रिलीज किया है जिसमें वो दादी का रोल निभा रहीं हैं. वो भी ऐसी वैसी दादी नहीं ''शूटर दादी'' जिनके नाम 700 से ज्याद हैं.

तापसी और भूमि असल जिदंगी कि ''शूटर दादी'' का रोल परदें पर निभा रहीं हैं. जिसमें उनकी उम्र 87 और 82 साल कि दादी की होगी. फिल्म का नाम ''सांड की आंख'' रखा गया है सोमवार को दोनों अदाकारों ने अपने सोशल मीडिया पर 'फिल्म का पोस्टर जारी किया है ''सांड की आंख'' फिल्म देखने के लिए आपको दिवाली तक का इंतजार करना पड़ेगा. 

इस फिल्म में दुनिया कि सबसे बुजुर्ग शूटर का रोल निभा रहीं हैं. फिल्म के पोस्टर पर एक डायलॉग भी लिखा है- 'तन बूढ़ा होता है, मन बूढ़ा नहीं होता. इस से पहले भी दिवार पर गोबार थापते हुए फोटों और हरियाणवी में डायलॉग पोस्ट कर चुकी है मशहूर डायरेक्टर अनुराग कश्यप और निधि तोमर  ने मिलकर फिल्म प्रोड्यूस किया है, जबकि रिलायंस इंटरटेनमेंट के बैनर तले तुषार हिरानंदानी पहली फिल्म डायरेक्टर की है.

कौन है ''शूटर दादी''

यूपी के बागपत जिले की जोहरी गांव की रहने वाली चंद्रो तोमर 87 और प्रकाशी तोमर 82 का रिश्ता देवरानी-जेठानी का है. दादी को 'शूटर दादी' भी कहा जाता है. ये दुनिया की सबसे ज्यादा उम्र की शूटर हैं. इस उम्र में भी उनका निशाना बिलकुल ठीक लगाता है पहली बार 60 की उम्र में बदूंक उठाई और तब से लेकर अब तक एक के बाद एक 700 से ज्याद मैडल अपने नाम करे हैं. नेशनल लेवल पर भी कई मैडल जीत चुकी है. शूटर दादी इंडियाज गॉट टैलेंट' में भी जा चुकी हैं.

चंद्रो दादी की पोती  शूटिंग सीखने जाती थीं और दादी उनके साथ जाती थी एक दिन पोती ने ज़िद करी कि वो निशाना लगाए और चंद्रो ने 3 में से 2 पर सटीक निशाना लगाया और इस घटना को उनके पोती के कोच ने देख लिया और इस तरह शुरू हुआ चंद्रो का सफर फिर उनकी जेठानी प्रकाशी ने भी शटिंग शुरू कर दी. उनका घर और गांव में विरोध शुरू हो गयी लेकिन जब उन्होंने दिल्ली में मैडल जीत तो विरोध तारीफ में बदला गया.