Live Tv

Wednesday ,26 Jun 2019

डिग्री विवाद: "जितना भी अपमानित कर ले, लेकिन मुझे रोक नहीं सकेंगे"- स्मृति

VIEW

Reported by Knews

Updated: Apr 12-2019 04:36:26pm
latest news, news, kanpur news, knews, breaking news, hindi news, hindi khabar, taza khabar,  smriti Irani said do what you want but one thing is for sure you can't stop me, do whatever you want, you cant stop me, smriti irani, priyanka chaturvedi, degree vivad, congress, BJP

यूपी के अमेठी से बीजेपी उम्मीदवार स्मृति ईरानी के डिग्री विवाद पर कांग्रेस के हमले के बाद केंद्रीय मंत्री ने कांग्रेस पर पलटवार किया है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि कांग्रेस चाहे मुझे कितना भी अपमानित कर ले, लेकिन मुझे रोक नहीं सकती। उन्होंने कहा, 'मुझ पर हमला करना उनका अधिकार है, कांग्रेस के चेले-चपाटे चाहे जो कुछ भी कर लें, लेकिन वे मुझे नहीं रोक सकते हैं।'

स्मृति ईरानी ने कहा, वो जितना भी अपमानित करेंगे, मुझे उतनी ही ताकत मिलेगी कि मैं उनसे लड़ूं।' उन्होंने कहा कि क्योंकि मैं कांग्रेस पार्टी के नामदार के खिलाफ लड़ रही हूं इसलिए उनसे यह सब देखा नहीं जा रहा है। 

बता दें कि स्मृति ईरानी के नामांकन पत्र में उनकी डिग्री का जिक्र कर कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने ईरानी पर बेहद तीखा तंज कसा है। उन्होंने स्मृति के हिट टीवी सीरियल 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी' की तर्ज पर इरानी की डिग्री पर कटाक्ष किया था।

पूरी खबर पढ़े....मोदी को दुनिया का सलाम, UAE के बाद रूस देगा सर्वोच्च नागरिक का सम्मान

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा, 'एक नया सीरियल आनेवाला है- 'क्योंकि मंत्री भी कभी ग्रैजुएट थी।' इसकी ओपनिंग लाइन होगी- 'क्वॉलिफिकेशन्स के भी रूप बदलते हैं, नए-नए सांचे में ढलते हैं, एक डिग्री आती है, एक डिग्री जाती है, बनते नए ऐफिडेविट हैं।' उन्होंने कहा कि स्मृति इरानी ने अपने क्वॉलिफिकेशन को लेकर एक चीज कायम की है कि किस तरीके से ग्रैजुएट से 12वीं क्लास के हो जाते हैं, वह मोदी सरकार से हैं और मोदी सरकार में ही मुमकिन है। 

गौरतलब है कि इरानी ने गुरुवार को दाखिल किए शपथपत्र में बताया है कि वह ग्रैजुएट नहीं हैं। हलफनामे के मुताबिक स्मृति ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग में पत्राचार से बीकॉम में दाखिला लिया था। 1994 में वह फर्स्ट ईयर में थीं। तीन साल के इस कोर्स को अभी उन्होंने पूरा नहीं किया है। स्मृति ने 1991 में हाईस्कूल और 1993 में बारहवीं की परीक्षा पास की थी। 2014 के शपथ पत्र में भी उन्होंने अपनी इसी योग्यता का उल्लेख किया था।