Live Tv

Monday ,22 Jul 2019

श्रीलंका में बम धमाके में 290 लोगों की मौत, 24 लोग गिरफ्तार

VIEW

Reported by Knews

Updated: Apr 22-2019 10:40:33am
latest news, news, kanpur news, knews, breaking news, hindi news, hindi khabar, taza khabar,श्रीलंका, रविवार,  चर्चा ,  श्रीलंका के चर्चा , बम धमाके, 290 लोगों की मौत, srilanka serial blast, easter sunday, ईस्टर, ईस्टर ईसाई, भु यीशू,ईसाई धर्म , सूली, प्रधानमंत्री मोदी, राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना, नेगोम्बो , सेंट सेबेस्टियन, बट्टिकलोवा,  srilanka, srilanka news, srilanka serial blast, easter blast, church blast, church attact, srilanka attack,  modi, india, bjp, rahul gandhi, big breaking srilanka serial blast update,

रविवार को हुए श्रीलंका के चर्चा और होटलों में बम धमाके से 290 लोगों की मौत और 500 से ज्याद लोग घायल बताए जा रहे हैं. पुलिस ने अभी तक 24 लोगों को गिरफ्तार किया है. मृतकों में 36 विदेशी नागरिक भी शामिल है. जिसमें से 3 भारतीय है इन धमाकों की जिम्मेदारी अभी तक किसी भी संगठन ने नहीं ली है. बताया जा रहा कि अधिक से अधिक नुकसान पहुंचाने के लिए हमलवारों ने खुद को बम से उड़ा लिया.

आपको बता दें कि विस्फोट स्थानीय समयानुसार सुबह पौने नौ बजे के करीब ईस्टर प्रार्थना सभा के दौरान कोलंबो के सेंट एंथनी गिरजाघर, पश्चिमी तटीय शहर नेगोम्बो के सेंट सेबेस्टियन गिरजाघर और बट्टिकलोवा के जियोन गिरजाघर में हुए. कोलंबो के तीन पांच सितारा होटलों - शांगरी ला, सिनामोन ग्रैंड और किंग्सबरी को भी निशाना बनाया गया. एक के बाद एक 8 बम धमकों ने श्रीलंका को हिला के रख दिया है 8 वे धमाको के तुरंत बाद कर्फ्यू लगा दिया है. ईस्टर रविवार को चर्चाओं में भीड़ अधिक होती है जिसका फायदा हमला करने वालों ने उठाया.

श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेना ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने कहा, ‘‘मैं पूरी तरह से अप्रत्याशित घटना से सदमे में हूं. सुरक्षाबलों को सभी जरूरी कार्रवाई करने के निर्देश दिये गये हैं.'' प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने इसे ‘‘कायराना हमला'' बताते हुए कहा कि उनकी सरकार ‘‘स्थिति को नियंत्रण'' में करने के लिए काम कर रही है.

तो वहीं श्रीलंका के रक्षामंत्री आर विजयवर्धन का कहना है, ''ये आत्मघाती हमले हैं. ख़ुफ़िया एजेंसियों ने हमले के बारे में सूचित किया था, लेकिन इससे पहले कि उन्हें रोका जाता, धमाके हो गए. हमले की साज़िश विदेश में रची गई.''

प्रधानमंत्री मोदी ने की निंदा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फोन पर श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना और पीएम रानिल विक्रमसिंघे से बात की। साथ ही ट्वीट कर घटना की कड़ी निंदा की. मोदी ने कहा कि हमारे क्षेत्र में बर्बरता के लिए कोई जगह नहीं है. भारत श्रीलंका के लोगों के साथ मजबूती से खड़ा है. उन्होंने मृतकों और घायलों के परिवारों के साथ संवेदना जताई.

क्या है ईस्टर, क्यों चुना इसी दिन को

 ईस्टर ईसाई समाज के सबसे बड़े त्योहारों में से एक है. इसे ईसाई धर्म के आराध्य प्रभु यीशू के दूसरे जन्मदिन के तौर पर बनाते हैं. ईसाई धर्म की मान्यता के अनुसार प्रभु यीशू को रोमन शासकों ने गुड फ्राइडे के दिन सूली पर चढ़ा दिया था. लेकिन प्रभु यीशू तीन दिन बाद चामात्कारिक रूप से दोबारा जीवित हो गए थे. इसलिए ईसाई समाज के लोग इस दिन को त्योहार की तरह मनाते हैं. इस दिन की सुबह आमतौर पर ईसाई समाज के लोग चर्च में जाते हैं. यहां प्रभु यीशू के सामने प्रार्थना करने के बाद घरों को लौट जाते हैं. घर आते ही लोग अपने-अपने घरों को मोमबत्ती व दूसरे साजो-सामान से रोशन करते हैं.