Live Tv

Monday ,20 May 2019

सुप्रीम कोर्ट ने मध्यस्थता पैनल  को 15 अगस्त तक समय दिया

VIEW

Reported by Knews

Updated: May 10-2019 12:44:20pm
Ayodhya case, ayodhya case hearing, Ayodhya case latest news, Supreme court, Ram MandirBabri, Masjid Supreme court,  Ayodhya land dispute, latest news, news, kanpur news, knews, breaking news, hindi news, hindi khabar, taza khabar, delhi news, international news, jamamasid, suprem court, high court, suprem court news, delhi news,, ram mandir, ram mandir news, ram mandir update,

 सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले पर शुक्रवार से सुनावाई शुरू हो चुकी है. कोर्ट ने आयोध्या के विवाद को सुलझाने के लिए मध्यस्थता पैनल का गठन किया था.  मध्यस्थता पैनल ने सुप्रीम कोर्ट से 15 अगस्त तक का समय मांग है जिसे सुप्रीम कोर्ट ने मंजूरी दे दी है. शुक्रवार को मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि वह मध्यस्थता पैनल को लेकर आशावादी है. अयोध्या मामले पर सुनवाई के दौरान संविधान पीठ ने कहा कि हमने  मध्यस्थता पैनल की रिपोर्ट देखी है. चीफ जस्टिस ने कहा कि मध्यस्थता पैनल और वक्त चाहता है. हम इसके लिए सहमत हैं. उन्होंने कहा कि मध्यस्थता की प्रक्रिया को लेकर हमने रिपोर्ट देखी है. पैनल ने 15 अगस्त तक वक्त मांगा है. ऐसे में समय दिया जा रहा है. हम नहीं चाहते हैं कि मध्यस्थता के बीच में आएं. हालांकि  पैनल ने क्या प्रगति की है हम बताना नहीं चाहते. लेकिन रिपोर्ट की गोपिनियता का ध्यान रखा जाए. 

दूसरी पार्टी से पैसे और गिफ्ट ले लें, लेकिन वोट हमे ही दें- अरविंद केजरीवाल.... (आगे पढ़े)

वहीं, मुस्लिम पक्षकार की ओर से राजीव धवन ने कहा कि हम इसका समर्थन करते हैं. कोर्ट में सुनवाई करीब 6 मिनट ही चली. हालांकि रामलला विराजमान की ओर से मोहलत दिए जाने का विरोध किया गया. सीनियर एडवोकेट सीएस वैद्यनाथन ने कहा कि पहले ही इस मामले की सुनवाई में काफी देर हो चुकी है. लिहाज़ा ज़्यादा मोहलत उचित नहीं होगी. मध्यस्थता समिति की बैठक जून में प्रस्तावित हैं. तो जून तक मोहलत दे कर जुलाई में इसकी सुनवाई की जा सकती है, लेकिन CJI ने कहा कि समिति ने सकारात्मक संकेत दिए हैं, लिहाज़ा वक्त देने में कोई हर्ज नहीं है. अब इस मामले की सुनवाई 15 अगस्त के बाद ही होगी. 

2 महीने पहले मामला मध्यास्थता पैनल को सौंपा गया

8 मार्च को पिछली सुनवाई में अयोध्या विवाद का समाधान बातचीत से तलाशने के लिए तीन सदस्यीय मध्यस्थता पैनल का गठन किया गया था. इसकी अगुआई रिटायर्ड जस्टिस फकीर मोहम्मद इब्राहिम कलीफुल्ला कर रहे हैं. बाकी दो सदस्य वकील श्रीराम पंचु और आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर हैं. पैनल को आठ सप्ताह का वक्त दिया गया था और चार सप्ताह में प्रोग्रेस रिपोर्ट मांगी गई थी.