Live Tv

Wednesday ,26 Jun 2019

इलेक्टोरल बॉन्ड से कितना मिला चंदा, सभी पार्टियां देंगी ब्यौरा- सुप्रीम कोर्ट

VIEW

Reported by Knews

Updated: Apr 12-2019 12:36:14pm
latest news, news, kanpur news, knews, breaking news, hindi news, hindi khabar, taza khabar, supreme court strict on electoral bond, electoral bond, supreme court, election commission, election 2019, loksabha election 2019, transparency

सुप्रीम कोर्ट ने राजनीतिक दलों को निर्देश दिए हैं कि वह इलेक्टोरल बॉन्ड के जरिए जुटाई गई रकम की जानकारी 30 मई तक सीलबंद लिफाफे में चुनाव आयोग को दें। कोर्ट ने कहा है कि इलेक्टोरल बॉन्ड से चंदा लेने वाली पार्टियों को दानकर्ता के नाम के साथ, उनसे मिली रकम की भी जानकारी देनी होगी।

   पूरी खबर पढ़े....'कैप्टन कूल' को क्यों आया गुस्सा ?

क्या हैं इलेक्टोरल बॉन्ड के नियम ?

  1. कोई भी रजिस्टर्ड राजनीतिक दल जिसने पिछले लोकसभा या विधानसभा चुनाव में 1% वोट हासिल किए हों, वह इलेक्टोरल बॉन्ड के जरिए डोनेशन ले सकता है।   
  2. इलेक्टोरल बॉन्ड 10 दिन के लिए जारी किए जाते हैं। लोकसभा चुनाव के साल में 30 दिन का अतिरिक्त समय दिया जाता है।
  3. इन बॉन्ड की वैलिडिटी जारी करने के बाद 15 दिन तक होती है। इस दौरान इन्हें कैश करवाना पड़ता है।
  4. ये बॉन्ड 1 हजार, 10 हजार, 1 लाख, 10 लाख और 1 करोड़ रुपए की वैल्यू के होते हैं। इन पर डोनर या जिस पार्टी को डोनेट किया जा रहा है उसकी जानकारी नहीं होती।