Live Tv

Saturday ,19 Oct 2019

क्या 'शामियाना' फार्मूले से जाएगी मंदी?

VIEW

Reported by Knews

Updated: Sep 20-2019 04:27:24pm

केंद्र सरकार ने त्योहारी सीजन के पहले देश की जनता को राहत देने की तैयारी कर ली है. इसके तहत अब देश भर के 400 जिलों में लोगों को आसान प्रकिया के तहत लोन बांटा जाएगा ताकि बाजार में अर्थव्यवस्था सुचारु बनी रहे और त्योहार के दौरान रौनक भी कायम रहे. आपको बता दें कि बाजार में मांग बढ़ाने के लिए त्योहारी सीजन में ज्यादा से ज्यादा बैंकिंग कर्ज उपलब्ध कराने के फार्मूले को सरकार इस बार भी आजमाने जा रही है. इसमें सरकारी क्षेत्र के बैंकों की भूमिका सबसे अहम होगी. इन बैंकों के प्रमुखों के साथ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की बैठक हुई और इसमें अगले 20 दिनों के भीतर देश के 400 जिलों में 'शामियाना फार्मूले' के तहत बैंकिंग कर्ज बांटने का फैसला किया गया. कर्ज आम जनता और गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों को भी को भी बांटा जाएगा.

गौरतलब है कि ''बैंकों से कहा गया है कि वे नए ग्राहकों की तलाश करें...हर एक पुराने ग्राहक पर पांच नए ग्राहक खोजने का काम उन्हें करना होगा. कोशिश यह होगी कि जिन्हें कर्ज की जरुरत है उन्हें बिना किसी देरी के और समस्या के त्योहारी सीजन से पहले कर्ज मिले. बैंकों की तरफ से कई एनबीएफसी की पहचान पहले ही हो चुकी है जिन्हें वह कर्ज उपलब्ध करा सकते हैं.

हालांकि त्योहारी सीजन में सबसे ज्यादा कर्ज ऑटो और आवास के लिए लिया जाता है और इन दोनों सेक्टरों की हालत पिछले कई महीनों से लगातार बिगड़ती जा रही है. नए ग्राहक कई वजहों से सामने नहीं आ रहे हैं. बैंक पहले ही कह चुके हैं कि उनके पास एक लाख करोड़ रुपये की अतिरिक्त राशि है जिसे वह कर्ज के तौर पर दे सकते हैं. हाल के दिनों में कर्ज की दर भी कम हुई है. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल उठता है तो सिर्फ यही कि क्या केंद्र सरकार के शामियाना' फार्मूले से ममंदी पर पड़ेगा असर? क्या देश को मंदी से उबार पाएगा शामियाना’ फार्मूला?