×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Sunday, 18 November 2018

पीएनबी महाघोटाले के बाद कोठारी की बारी, जाने क्या है पूरा मामला...!

Reported by KNEWS | Updated: Feb 19-2018 11:12:24am


नई दिल्ली : कई दिनों से ढूंढा जा रहा बैंको का लूटेरा आखिरकार कानपुर में जाकर मिला। रोटोमैक कंपनी के स्वामी विक्रम कोठारी पर बैंको से 800 रुपये ऋण लेने का आरोप है जो अभी तक बैंकों को लौटाया नहीं गया हैं। हालांकि सब यहीं मान रहे थे कि कोठारी ने देश छोड़ दिया है और विदेश में कहीं छुपकर बैठे है। लेकिन इसी बीच कोठारी को रविवार को अपने गृह निवास कानपुर में एक शादी के रिसेप्सन समारोह में देखा गया।


जहां तमाम राजनीतिक दल के बड़े नेता भी मौजूद थे। पार्टी यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ डिप्टी सीएम और बिहार के उपमुख्यमंत्री ने शिरकत की। वहीं मीडिया से मुखातिब होने के कोठारी ने कहा कि ये मेरा गृह है और क्यों अपना देश छोड़कर कहीं जाऊं, मै यहीं हूँ। हालांकि कभी बिजनेस को लेकर मै विदेश यात्राएं करता रहता हूँ।

 

ये पढ़े : लीलावती में मनोहर पर्रिकर को देखने पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी

 

गौरतलब है कि विक्रम कोठारी के ऊपर पांच पब्लिक बैंको से 800 करोड़ का कर्जा ले रखा है जो कि आज तक तक नहीं लौटाया गया है। कोठारी ने बैंक ऑफ बड़ोदरा, इलाहाबाद बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन ओवर सीज बैंक, बैंक ऑफ इंडियन। कोठारी द्वारा लिया ऋण वापस न लौटाने पर बैंक ऑफ बड़ोदरा ने 2017 में रोटोमैक के मालिक कोठारी पूरी तरह से डिफॉल्टर घोषित कर दिया।

 

जिसके बाद इस लिस्ट से कोठारी ने नाम हटवाने के लिये इलाहाबाद हाईकोर्ट भी गये जिसके बाद न्यायाधीश ने कहा कि इस तरह डिफॉल्टर की सूची में डालने के फैसले को गलत बताया था और ये कहा था कि इस सूची से इनको बाहर निकाला जायें। गौर करने वाली बात ये है कि इतने बड़े बड़े घोटाले करने के बाद भी अभी तक घोटालेबाजों पर सरकार पूरी तरह शिकंजा नहीं कस पाई है। 

                                                                                    नई दिल्ली से ज्योति सिंह


पर हमसे जुड़े

मुख्य ख़बरे