Live Tv

Thursday ,21 Mar 2019

कर्नाटक के कालाबुर्गी में शाह को दिखाएं गए काले झंडे

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Feb 26-2018 10:34:44am

नई दिल्ली : इसी साल होने वाले कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति गिलयारो में सरगर्मीया बढ़ गई है। आरोप- प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है। विभिन्न दल के नेता कर्नाटक का दौरा कर रहै है। इसके अलावा जन्ता भी सभी पार्टीयों की बात सुन रही है ओर वोट किसे दिया जाएं इस बात का ध्यान रख रही है।

 

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह कर्नाटक के दौरे पर है। जानकारी के मुताबिक भाजपा अध्यक्ष अमित शाह बिते रविवार को कर्नाटक के कालाबुर्गी में एक विरोध का सामना करना पड़ा। उनका विरोध दलित संधर्ष समिति के सदस्यो नें काले झंडे दिखाकर किया।

 

ये पढ़े : नहीं रही बॉलीवुड अदाकारा श्रीदेवी, पूरा बॉलीवुड सदमे में

 

जानकारी के मुताबिक अमित शाह आगामी कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर कर्नाटक के दौरे पर है, जहां वे राज्य के तीन जिलो का यात्रा करेंगे जिसमे गुलबर्गा, यादीगार औऱ बीदारस जिले शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जब कालाबुर्गी में अनुसूचित जाति  के श्रमिको की एक सार्वजनिक सभा को संबोधित कर रहे थे।

 

ये सभा कालाबुर्गी के एनवी कॉलेज परिसर में हो रही थाृी। इसी दौरान दलित संधर्ष समिति के सदस्यो नें शाह के का रास्ता रोकने की कोशिश की और काले झंडे दिखाकर विरोध जताया। इस मामले में जानकारी मिल रही है कि दलित संधर्ष समिति के सदस्यो नें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को काले झंडे दिखाकर विरोध इसिलिए जता रहे थे क्योंकि हाल ही में केन्द्रीय मंत्री अनंत हेगड़े ने संविधान के खिलाफ एक बयान दिया था।

 

केन्द्रीय कोशल विकास एंव उद्यमशीलता राज्यमंत्री हेगड़े ने कहा था कि बीजेपी संविधान बदलने के लिए सत्ता में आई है। इसके अलावा केंद्रीय मंत्री ने ये भी कहा था कि लोग धर्मनिरपेक्ष शब्द से इसलिए सहमत है क्योंकि यह संविधान में लिखा हुआ है। इसे बहुत पहले ही बदल दिया जाना चाहिए था और अब हम इसे बदलने जा रहै है। इसके अलावा हैगड़े ने ये भी कहा था कि जो लोग खुद को धर्मनिरपेक्ष कहते है, वे बिना माता - पिता से जन्मे की तरह है।

 

केंद्रीय मंत्री ने ये सभी बाते कर्नाटक के कोप्पल जिले के एक कार्यक्रम के दौरान कही थी जिसको लेकर इस बयान की खूब आलोचना हुई। केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े के इसी बयान को लेकर दलित संधर्ष समिति के सदस्यो ने अमित साह को काले झंडे दिखाए और विरोध जताया। भाजपा अध्यक्ष अमित साह ने जैसे ही कालाबुर्गी में अनुसूचित जाति के श्रमिको की एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करना शुरू किया दलित संधर्ष समिति के सदस्यो ने नारे लगाना शुरू कर दिया और शाह को काले झंडे दिखाए।

 

जानकारी के मुताबिक इस धटना के बाद पुलिस ने नारे लगा रहे दलित संधर्ष समिति के सदस्यो को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद भाजपा अध्यक्ष अमित साह ने सभा के संबोधित करना शुरू किया। वें राज्य में सत्ता पर काबिज़ कांग्रेस की  सिद्धारमैया सरकार पर जमकर बरसे और सिद्धारमैया सरकार को गैरजिम्मेदार और असंवेदनशील करार दिया।

 

इसके अलावा शाह ने कहा कि इस बार कर्नाटक में सरकार बदल रही है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ये भी कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार रहते हुए तीन हजार से अधिक किसानो ने आत्महत्य की है लेकिन मुख्यमंत्री सिद्दारमैयै तुष्टीकरण की राजनीति में व्यस्त हैं।

 

कर्नाटक विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीति के दिग्गजो ने अपनी कमर कस ली है। अब देखना ये होगा कि कर्नाटक में इस बार फिर से कांग्रेस की सरकार बनती है या  इस बार भाजपा कर्नाटक में सत्ता में आती है। 

 

 

                                                                                      नई दिल्ली से आशीष साह