×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Sunday, 18 November 2018

शर्मसार! वृद्ध मां को बेटियों ने ठुकराया

Reported by KNEWS | Updated: Mar 01-2018 03:41:37pm


नैनीताल : उत्तराखण्ड के नैनीताल में वृद्ध माँ को घर में रखने से इनकार करते हुए, सगी बेटियों और मानवता के बीच सुलह। कलयुग के रिश्तों को साफ दर्शाते हुए वृद्ध महिला को बेटियों ने रखने से इनकार किया तो इंसानियत दिखाते हुए एक परिवार ने उन्हें गोद ले लिया है। 80 वर्षीय पार्वती भट्ट के ये आंसू इनके असहनिय दुख और मजबूरी की दास्तान को बयां कर रहे हैं।

 

नैनीताल में मल्लीताल के बिनतोला भवन में किराए के मकान में रहने वाली अभागी माँ की केवल दो ही बेटियां प्रेमा और भगवती हैं, जिनका विवाह भी हो चुका है। दोनों बेटियां बूढ़ी माँ को अपने साथ नहीं रखना चाहती है। कुछ दिन किराए के मकान में रहने के बाद वृद्ध महिला पार्वती को मकान मालिक ने बाहर का रास्ता दिखा दिया। ऐसे में वृद्ध महिला नैनीताल में ही राहने वाली अपनी छोटी बेटी प्रेमा जोशी के ससुराल गई।

 

ये पढ़े : पीसीएस (जे) में करिश्मा ने मारी बाजी

 

जहां प्रेमा ने अपनी माँ को रखने से इनकार करते हुए घर से बाहर निकाल दिया । वृद्ध महिला को एक मददगार महिला तुलसी बिष्ट ने बीती 24 जनवरी से अपने घर में आसरा दिया हुआ है। तुलसी बिष्ट ने बताया कि उन्होंने दोनों बेटियों से संपर्क किया लेकिन उन्होंने अपनी माँ को रखने से साफ इंकार कर दिया। वो शिकायत लेकर 14 फरवरी को मल्लीताल कोतवाली पहुंची, कई बार बुलाने के बाद दोनों बहनें आज कोतवाली पहुंची। महिला सब इंस्पेक्टर ने मामले में दोनों पक्षों को कानून की बात समझाई। बेटियों ने जब वृद्ध माँ को ले जाने से साफ इंकार कर दिया तो सहारा देने वाली तुलसी बिष्ट ने वृद्धा को गोद लेने का प्रस्ताव रखा।

 

बेटियों ने सहर्ष स्वीकृति दे दी और लिखित में पत्र भी दे दिया। बेटियों का कहना है कि उनकी माँ घर में अभद्र व्यवहार करती है । वो उन्हें कतई नहीं ले जाएगी, हालांकि उन्होंने कहा कि माँ का पूरा इलाज और अंतिम समय की क्रियाएं भी वो करेंगे । उन्होंने ये भी कहा कि उन्हें माँ की जायजाद से कुछ नहीं चाहिए ।

 

इसके बाद माँ ने छलकते हुए आंसुओं से कहा कि उसने इन बेटियों के लिए क्या नहीं किया है । अब जब बेटियां उन्हें नहीं रखना चाह रही हैं और तुलसी ने उन्हें रखने की मांग की है तो वो तुलसी के साथ ही खुशी खुशी जाएंगी । 

 

दोनों बहिनों के बाद पुलिस ने भी आसरा देने वाली महिला तुलसी के साथ ही वृद्ध माँ को भेजने की सहमति दे दी । पुलिस ने बड़ी बेटी भगवती जोशी से सारी बात लिखित में ले ली है । अब वृद्ध पार्वती को 80 वर्ष की आयु में उनकी पड़ोसी तुलसी बिष्ट ने गोद ले लिया है। 

                                                                                नैनीताल से कान्तापाल


पर हमसे जुड़े

मुख्य ख़बरे