Live Tv

Sunday ,20 Jan 2019

सीएम योगी की उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक 

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Mar 08-2018 10:33:06am

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के त्वरित विकास के लिए निर्णय लेते हुए तेजी से कार्य कर रही है। प्रदेश सरकार ने जनकल्याणकारी नीतियों एवं कार्यक्रमों को लागू किया है, जिसका लाभ प्रदेश की जनता को  मिल रहा है। पिछले 11 महीनों के  दौरान वर्तमान सरकार ने उत्तर प्रदेश को विकास के पथ पर तेजी से आगे ले जाने  का काम किया है। मुख्यमंत्री योगी ने शास्त्री भवन उच्च स्तरीय बैठक में विभागीय लक्ष्यों प्रगति की समीक्षा कर रहे थे।

 

बैठक को सम्बोधित करते हुए  उन्होने निर्देश दिए कि जो अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिव गण विभिन्न जनपदों के प्रभारी हैं, वो अपने-अपने जनपदो का विस्तृत दौरा करें। साथ ही, वे सम्पूर्ण समाधान दिवस/थाना समाधान दिवस जैसे महत्वपूर्ण अवसरों पर पहुंच कर उनमें भाग लेते हुए जनता की समस्याओं का समाधान सुनिश्चित कराएं। इसके अलावा, वो जनता से सीधा संवाद भी स्थापित करें। उनकी समस्याओं को सुन कर, उनका समाधान करवाएं। 108 एवं 102 एम्बुलेन्स सेवाओं की गुणवत्ता परखने के साथ-साथ उनकी लोकेशन जांचने के निर्देश भी दिए।

 

ये पढ़े : पीएम नरेंद्र मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति का वाराणसी दौरा

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि इन वरिष्ठ अधिकारियों को तहसील और ब्लॉक मुख्यालय का भी दौरा करना चाहिए। जनपदों के प्रभारी अधिकारीगण किसी क्षेत्र विशेष में कराए जा रहे विकास कार्यों का अवलोकन और भौतिक सत्यापन भी स्वयं करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि वे स्वयं भी सम्पूर्ण समाधान दिवस में भाग लेंगे। जिलाधिकारी तथा वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक/पुलिस निरीक्षक समय से अपने कार्यालय में उपस्थित होकर जनता की समस्याओं को सुनते हुए उनका त्वरित एवं प्रभावी निस्तारण सुनिश्चित करें। सीएम योगी ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे कार्यालयों में समय से उपस्थित होकर अपने दायित्वों औैर कार्यों का निर्वाह करें। फाइलों का निस्तारण कार्यालय में ही समयबद्ध ढंग से सुनिश्चित किया जाए। योगी जी ने कहा कि गर्मी के मौसम के दौरान गांवों  में  अक्सर आग लगने  की घटनाएं होती रहती हैं।

 

जिसमें किसानों की फसलें और झोपड़ियां इत्यादि प्रभावित होती हैं। उन्होंने निर्देश दिए कि ऐसी घटनाओं की रोकथाम के लिए पहले से ही आवश्यक कदम उठाए जाएं और यदि ऐसी कोई घटना घटित हो तो उससे प्रभावित लोगों को 12 घण्टे क अंदर राहत और मुआवजा उपलब्ध करा दिया जाए। उन्होंने कहा कि इसका अनुपालन कड़ाई से सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने फायर टेण्डर्स को सक्रिय करने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार ने लोगों को सुचारु विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने के उद्देश्य से ट्रांसफार्मर खराब होने की दशा में  उन्हें  समयबद्ध ढंग से बदलने की नीति बनायी है।

 

इसके तहत शहरी क्षेत्रों में खराब ट्रांसफार्मर  को 24 घण्टे में, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में  48 घण्टे में खराब ट्रांसफार्मर बदलने के निर्देश हैं। उन्होनें कहा कि गर्मी का मौसम शुरू हो रहा है। ऐसे में ट्रांसफार्मर की समस्या से प्रभावी ढंग से निपटने की रणनीति बना ली जाए ताकि लोगों को कोई तकलीफ न हो।  मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जिन योजनाओं के तहत केन्द्र से सहायता प्राप्त की जानी है, उनके विभागों के उच्चाधिकारी केन्द्रीय मंत्रालयों से लगातार सम्पर्क कर केन्द्रांश की राशि शीघ्र प्राप्त करने के प्रयास करें। किसी भी मामले का ‘फॉलोअप’बहुत आवश्यक है। अतः वरिष्ठ अधिकारीगण केन्द्रीय मंत्रालयों से लगातार सम्पर्क  बनाए रखें ताकि कार्य शीघ्र सम्पन्न हो सके।

 

ये पढ़े : महिलाओं में हाथापाई

 

परियोजनों  को लागू करने के लिए टेक्निकल और फाइनेन्शियल बिड एक साथ ली जाए। विभिन्न प्रकार की पेंशनों और छात्रवृत्तियों के चयन/वितरण में और पारदर्शिता लायी जाए। लाभार्थियों को इनका लाभ समय से व धनराशि का भुगतान डी0बी0टी0 के माध्यम से उनके खाते में पहुंचाया जाए। उन्होने जिला स्तर पर उद्योग बन्धु की नियमित बैठक आयोजित किए जाने के भी निर्देश दिए। राजस्व संग्रह के कार्य में और तेजी लायी जाए। राज्य सरकार के अथक प्रयासों के चलते प्रदेश में सकारात्मक माहौल बना है। राज्य सरकार गांव, गरीब, दलित, वंचित, पिछडें , महिला, नौजवान आदि सभी वर्गों और समुदायों के प्रति समर्पित होकर अपने दायित्वों का निर्वाह कर रही है।

 

राज्य सरकार प्रदेशवासियों का जीवन स्तर सुधारने के प्रति कटिबद्ध है। साथ ही, सभी प्रदेशवासियों को सुरक्षा और सुशासन देने के लिए भी राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। राज्य सरकार प्रदेश को अग्रणी राज्यों की श्रेणी में लाने के लिए गम्भीरता से प्रयास कर रही है। 

                                                                                          लखनऊ से आलोक शुक्ला