×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Monday, 19 November 2018

अंधेरे में डूबे इस गांव को प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना देगी रोशनी

Reported by KNEWS | Updated: Mar 09-2018 04:48:26pm


श्रीनगर : देश में आजादी के 70 साल बाद भी लाखों ऐसे परिवार है जो बिजली से वचिंत है ऐसे ही हजारों घरों तक बिजली पहुंचाने की कवायद शुरू हो गई है और  प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना के तहत मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया जा रहे हैं। पौड़ी जनपद में भी 2700 ऐसे विद्युत विहीन परिवारों की आस जगी है। आज बिजली हर घर की जरूरत हैं या यूं कहे कि हमारी दिनचर्या में बिजली बिना जीवन अधूरा है

 

लेकिन देश के आज भी लाखों परिवार बिजली बिना जीवन यापन करते हैं, अच्छे दिनों की आश मे देश के प्रधानमत्री ने सौभाग्य योजना की शुरूआत की तो उतराखंड मे भी विद्युत विहीन लोगों को एक आश जगी है, 2011 की जनगणना के अनुसार मूलभूत सुविधाओं के अभाव मे प्रदेश का सबसे ज्यादा पलायन की मार झेलने वाले पौड़ी जनपद मे भी 2700 ऐसे परिवार है, जो विद्युत विहीन है, जिसमें अधिकांश परिवार बीपीएल श्रेणी या अनूसूचित जाति व आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के परिवार है।

 

ये पढ़े : डंपर चोरी करने वाले तीन गिरफ्तार

 

श्रीनगर में समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य द्वारा सौभाग्य योजना के शुभारंभ के साथ ऐसे परिवारों की आश जगी है। सौभाग्य योजना का पूरा नाम प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना है। योजना के अन्तर्गत 31 मार्च 2019 तक हर घर तक बिजली पहुचाॅने का लक्ष्य रखा गया हैं। सौभाग्य योजना के शुभारंभ के साथ ही श्रीनगर में मंत्री यशपाल आर्य ने 132 केबी विद्युत सब स्टेशन का भी उद्वघाटन किया और 200 से ज्यादा गरीब परिवारों को विद्युत कनेक्शन कीट बांटी।

 

पौड़ी जिले के प्रभारी, कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ने बताया कि योजना के तहत प्रथम चरण में पौड़ी जनपद के 800 बीपीएल परीवारों को सरकार नि : शुल्क बिजली कनेक्शन देगी। कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ने योजना के शुभारंभ के साथ सामजिक कार्यकर्ताओं, पार्टी कार्यकर्ताओं एवं अधिकारियों से अपील की कि जनपद में जरूरतमन्द परिवारों तक बिजली कनेक्शन पहुंचाने के लिए हर स्तर पर प्रयास करें।

 

उन्होने भरोसा जताया कि 2019 तक प्रदेश का एक भी परिवार विद्युतविहीन नहीं रहेगा यही सरकार का लक्ष्य है।सरकार की यह योजना निश्चितरूप से गरीब तबके के परिवारों के लिए वरदान साबित होगी लेकिन विषम भौगोलिक परिस्थितियों वाले पर्वतीय क्षेत्रों मे बिजली हर घर तक पहुंचाना विद्युत विभाग के लिए भी किसी चुनौती से कम नहीं है। ऐसे में जरूरत है तो इस बात कि सरकारी सिस्टम योजना का सही क्रियान्वयन करें।

                                                                           श्रीनगर से कमल किशोर 


पर हमसे जुड़े

मुख्य ख़बरे