Live Tv

Sunday ,20 Jan 2019

अस्पताल का दिखा क्रूर चेहरा, युवक के कटे पैर को बना दिया तकिया

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Mar 10-2018 09:15:36pm

झांसी : झांसी मेडिकल कॉलेज में उस वक्त मानवता शर्मसार हो गई जब सड़क हादसे में जख्मी एक मरीज के कटे हुए पैर का तकिया बना दिया गया। मरीज स्कूल बस का क्लीनर था जो स्कूल बस हादसे  में जख्मी हो गया था। गंभीर हालत होने पर उसे झांसी के मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था, लेकिन युवक की हालत और बिगडने पर दुसरे हॉसपिटल भेज दिया गया। इस घटना से बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर जैसी लापरवाही एक बार फिर उजागर हो गई। 

 

 

ये पढे : दहेज के कारण युवती की हत्या

 

 

झासीं के मेडिकल कॉलेज में उपचार करा रहे ग्राम इटायल निवासी बस क्लीनर घनश्याम के साथ हुइ लापरवाही ने चिकित्सा व्यवस्था को शर्मसार कर दिया है। स्ट्रेचर पर मरीज उपचार के लिए लेटाया गया और उस के कटे पैर को उस का तकिया बना दिया गया था। क्लीनर घनश्याम बस पलटने से बुरी तरह जख्मी हो गया था। हादसे में उसका एक पैर कट गया था। 

 

 

इस मामले में मेडिकल प्रशासन जांच करा रहा है। मेडिकल कॉलेज की प्रिंसिपल ने डॉक्टर की लापरवाही पर पर्दा डालते हुए बताया कि मरीज के साथ आये अटैंडेंट ने ही उसे सिर के नीचे पैर रख दिया। यह सब उपचार के दौरान हुआ। यहां सवाल उठता है कि यदि किसी अन्य ने कटे हुए पैर का तकिया रख भी दिया तो डॉक्टर ने रोका क्यों नहीं। मामले की जांच का आदेश दिया जा चुका है

 

 

                                                         झांसी से कुलदीप अवस्थी