×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Sunday, 18 November 2018

एक एेसा भी अस्पताल जहां अंधेरे में होता है इलाज

Reported by KNEWS | Updated: Mar 13-2018 09:28:13am


बस्ती : बस्ती जिले के प्रभारी मंत्री एवं कैबिनेट स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह के बस्ती जिले में  स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी और डॉक्टरों की लापरवाही सामने आई है। एक घायल युवक को लापरवाह स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा इलाज के लिए स्ट्रेचर पर नहीं बल्कि चादर में लपेट कर घसीटते हुये ले स्वास्थ्य कर्मचारी लेकर जाते देखे गए।

 

घायल युवक को चादर में ले जाते समय दो बार हाथ चादर छूट गया जिससे युवक जमीन पर गिर पड़ा और घायल हो गया। स्वास्थ्य व्यवस्था और जनता को सही इलाज करने के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार हर वर्ष खरबों रुपया स्वास्थ्य विभाग पर खर्च कर रही है जिससे बीमार जनता और घायल व्यक्ति का सही इलाज हो सके।

 

ये पढ़े : उत्तर प्रदेश क्राइम - 12 मार्च 2018

 

लेकिन स्वास्थ्य महकमा की लापरवाही से जिंदे आदमी को भी मारने का प्रयास किया जा रहा है। बस्ती जिले के सामुदायिक स्वास्थ केंद्र विक्रमजोत जहां छावनी थाना क्षेत्र के रेड़वाल गांव के पास NH 28 गोरखपुर लखनऊ मार्ग पर मोटरसाईकिल सवार 32 वर्षीय रामबली को ट्रक ने ठोकर मार दिया जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया।

 

एंबुलेंस से लादकर घायल को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र विक्रमजोत पहुंचाया गया जहां इमरजेंसी विक्रमजोत स्वास्थ्य केंद्र के इमरजेंसी कक्ष में ले जाया गया। इलाज के लिए लेकिन उस समय अस्पताल में स्ट्रेचर रखा हुआ था लेकिन डॉक्टरों की लापरवाही से घायल 32 वर्षीये रामबली को चादर में लपेट कर घसीटते हुये स्वास्थ कर्मचारी ले गए।

 

यहां तक कि इस स्वास्थ्य केंद्र पर इलाज अंधेरे में होता है जबकि लाइट ना रहने पर सरकार द्वारा अस्पतालों में जनरेटर की व्यवस्था की गई है जिससे लाइट तत्काल दी जाए और मरीजों को कोई दिक्कत ना हो। लेकिन डॉक्टरों की लापरवाही साफ देखी गई। जनरेटर भी नही चलाया गया और अंधेरे में घायल का इलाज किया गया।

 

फिलहाल इस संबंध में जब मुख्य चिकित्सा अधिकारी बस्ती से बात की गई तो उन्होंने कहा कि मैं इस पर कुछ नही बोलूंगा। वही जिला अधिकारी बस्ती सुशील कुमार के मोबाइल नंबर पर बात की गई तो वह बात करने से सीधे इंकार हो गए।

 

उन्होने इस मामले में कहा कि हम इस पर कोई बयान नहीं देंगे यह कोई खबर नही है। जरा स्वास्थ्य मंत्री अपने जिले का हाल देखिए जहां के आप प्रभारी मंत्री हैं यहां इतनी लापरवाही हो रही है जरा निगाहे गड़ाये, स्वास्थ्य महकमे के लापरवाही से जनता परेशान है।

                                       

                                                                             बस्ती से अमृत लाल


पर हमसे जुड़े

मुख्य ख़बरे