×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Tuesday, 14 August 2018

धर्म परिवर्तन अपराध करने पर 7 साल की सजा के साथ जुमार्ना : सीएम रावत

Reported by KNEWS | Updated: Mar 14-2018 01:16:50pm


देहरादून : उत्तराखंड में जबरन, साजिश और झूठ बोलकर किए जाने वाले धर्म परिवर्तन को अपराध घोषित कर दिया गया है। जबरन धर्म परिवर्तन कराने वाले को एक से सात साल तक की सजा होगी और जुर्माना भी भरना होगा।

 

धर्म परिवर्तन की नियत से किए जाने वाले विवाह भी अमान्य घोषित होंगे। सरकार ने बकायदा धर्म स्वतंत्रता विधेयक को मंजूरी दे दी है। इसमें धर्म परिवर्तन करने और कराने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

 

ये पढ़े : हरिद्वार नगर निगम पर व्यापारियों का गंभीर आरोप

 

जबरन धर्म परिवर्तन को गैर जमानती अपराध घोषित कर दिया गया है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि देश कई प्रदेशो और क्षेत्रों में जबरन लोभ लालच देकर धर्मान्तर की बाते सामने आई है। जिससे झगड़े और दंगा फसाद होने की सम्भावना बढ़ जताई है। इसलिए राज्य सरकार द्वारा धर्म स्वतंत्रता विधेयक लाने का फैसला लिया गया है। सीएम ने कहा कि धर्मांतरण से पहले धर्म परिवर्तन करने वाले व्यक्ति को अपने जिले में इसकी सूचना देनी होगी तभी धर्म प्रवर्त्तन हो सकता है। 

                                                                                देहरादून से पंकज राणा


पर हमसे जुड़े