Live Tv

Sunday ,16 Dec 2018

स्मारिका पर सियासत

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Apr 05-2018 04:44:18pm

लालकुआं : नगर निकाय चुनाव नजदीक है और प्रदेश में कभी भी चुनाव आचार संहिता लग सकती है। जिसको देखते हुए निकाय के अध्यक्ष अपने 5 साल के कार्यकाल के उपलब्धि को जनता के सामने रख रहे हैं साथ ही साथ लोकार्पण और शिलान्यास का भी दौर शुरू हो चुका है। इसी कड़ी में जिले के लालकुआं नगरपंचायत के अध्यक्ष रामबाबू मिश्रा ने अपने 5 साल के कार्यकाल को लेकर एक स्मारिका का विमोचन किया।

 

जिसमें उन्होंने अपनी उपलब्धि को जनता के सामने रखा है नगर पंचायत अध्यक्ष रामबाबू मिश्रा ने अपने 5 साल के कार्यकाल में किए गए विकास कार्यों का बखान कर अपने मुंह मियां मिट्ठू बन जनता के बीच अपने स्मारिका को बांट वाहवाही लूटने की कोशिश कर रहा है तो वहीं पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष पवन चौहान और वर्तमान के कई पार्षद  इस स्मारक पर सवाल खड़ा करते हुए स्मारिका पर सवाल खड़े किये है।

 

ये पढ़े : कांग्रेस के सवाल निराधार : उनियाल

 

पवन चौहान का कहना है कि वर्तमान चेयरमैन पुराने विकास कार्यों को ही रंग रोगन कर विकास का ढिंढोरा पीट रहे हैं जबकि नगर सीमा में कोई भी विकास कार्य नहीं हुआ है उनका कहना है की लालकुआं नगरवासियो को मालिकाना हक ,रोडवेज बस अड्डा, ट्रांज़िट  ग्राउंड ,सीमा विस्तार सहित कई मामले आज भी अधूरे हैं जिसे वर्तमान चेयरमैन ने नहीं कर पाए और  स्मारिका का विमोचन कर चेयरमैन जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं।

 

ऐसे में वर्तमान चेयरमैन का यह स्मारिका जनता को भ्रमित करने वाला है वही वर्तमान चेयरमैन रामबाबू मिश्रा के स्मारिका  विमोचन के दौरान किसी भी पार्षद का उपस्थिति नहीं होना चेयरमैन के स्मारकों पर भी सवाल खड़ा करता है।

 

वही पार्षदों का कहना है कि चेयरमैन ने बिना पार्षदों के सहमति से अपने नाम का स्मारक का विमोचन कर यहां की जनता को गुमराह किया है।

                                                                                      लालकुआं से भावनाथ पंडित  ​