×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Wednesday, 20 June 2018

निरोगी सेहत के लिए धनिया है रामबाण

Reported by KNEWS | Updated: Apr 12-2018 11:49:14am


नई दिल्ली : धनिया केवल एक खाने में इस्तेमाल किया जाने वाला मसाला नहीं बल्की इसके कई सारे उपयोग है। धनिया एक एंटीबायोटिक और एंटीऑक्सीडेंट का अच्छा स्रोत है। साथ ही कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। आंखो की बीमारी, वजन घटना, कैंसर की बीमारी, त्वचा के रोग, अल्सर, पाचन से जुडी बीमारिया, डायबिटीज, तनाव जैसी कई सारी गंभीर बीमारी के इलाज में धनिया का इस्तेमाल किया जाता है।

 

इतनी सारी बीमारियां ठीके करने के सारे तत्त्व एक धनिया में है। किचन में इस्तेमाल होने वाला हरा धनिया कितना उपयोगी है। इसपर शायद ही आपने कभी ध्यान दिया होगा लेकिन हम जो आपकों बताने जा रहे धनिये के फायद वो जानकर आप भी करेंगे रोजाना इस्तेमाल।घर में खाने के व्यंजन में धनिया का इस्तेमाल किया जाता है। कोई धनिया के पत्तो का इस्तेमाल करता है तो कोई धनिया को पाउडर के रूप में इस्तेमाल करता है। धनिया एक मसाला होने के साथ ही एक औषधि वनस्पति है।

 

ये पढ़े : ऐसे रखें शरीर को चुस्त

 

इस्तेमाल से कई सारी बीमारियाँ ठीक की जाती है साथ ही बहुत सारी बीमारियाँ ऐसी भी है जो धनिया के सेवन करने से होती भी नहीं। अधिकतर लोगो को धनिया एक मसाला के रूप में जानकारी है। मगर इसकी एक औषधि के रूप में क्या उपयोग होता है इसकी जानकारी निचे दी गयी है।धनिया एक औषधि वनस्पति है जिसे पूरी दुनिया में एक मसाला के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसके फल और पत्ते बहुत खुशबूदार है और इन्हें खाना बनाने में इस्तेमाल किया जाता।

 

त्वचा की सुजन और अन्य जुडी बीमारियां को ठीक करने के लिए इस्तेमाल

धनिया के पत्तो में सिनोले और लिनोले जैसे गुणकारी तत्त्व पाए जाते है। इन दो तत्वों का इस्तेमाल आर्थराइटिस यानि जोड़ो के दर्द की बीमारी में किया जाता है। त्वचा पर होने वाली सुजन को दूर करने के लिए भी धनिया का इस्तेमाल किया जाता है। इसके पत्तो में जंतु का नाश करने वाला अतसिरी तेल होता है। कवक और जीवाणु संक्रमण से होनेवाली बीमारी भी धनिया से ठीक हो सकती है। साथ ही यह एक कितानुनाशक, एंटीसेप्टिक और कवक से फैलनेवाली बीमारी में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट तत्व के कारण एक्जिमा जैसी बीमारी ठीक करने के लिए भी धनिया का उपयोग किया जाता है।


नींद ना आने की बीमारी में असरदार 


 धनिया में फिटोनुत्रिन तत्त्व होने के कारण हमारे शरीर में रसायन को नियंत्रित करने में कारगर साबित हुए है। इससे रात मे अच्छी नींद आती है।


धनिया एक एंटीबायोटिक 

 

पाचन से जुडी बिमारियां जैसे की डायरिया से छुटकारा पाने के लिए धनिया का एक अच्छे एंटीबायोटिक के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। धनिया में बोर्नेअल नाम का रसायन होने के कारण वो ई कोली जीवाणु को ख़तम करने में काफी सक्षम है। एक एंटीबायोटिक होने के कारण इसका इस्तेमाल आत की सुजन, हेमोरोइड, चक्कर आना, फ्लू उच्च रक्तचाप, स्तन का बढ़ना, उलटी होना इन सारी बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है।

 

उच्च रक्तचाप 

धनिया के पत्तो का सेवन करने से उच्च रक्तचाप और हाइपरटेंशन जैसे गंभीर बिमारिया भी ठीक की जाती है। इसके अन्दर के आयन कैल्शियम और कोलिनेर्जिक की मौजुद्गी के कारण दिल से जुडी बिमारिया और स्ट्रोक का खतरा भी कम हो जाता है।


कोलेस्ट्रॉल कम करने में असरदार 

 

हमारे शरीर से कोलेस्ट्रॉल कम करने में धनिया के पत्तो का इस्तेमाल किया जाता है। कोलेस्ट्रॉल के कारण दिल का दौरा पड़ना, स्ट्रोक और डायबिटीज जैसी गंभीर बीमारी होती है। इसमें सोडियम और पोटैशियम होने की वजह से शरीर में रक्त को नियंत्रित करने में भी धनिया का उपयोग किया जाता है।


धनिया एक फायदेमंद एंटीऑक्सीडेंट 

 

एक रिसर्च के मुताबिक साबित हो चूका है की धनिया के पत्ते एक एंटीऑक्सीडेंट के रूप में इस्तेमाल किये जाते है। इसका कैफिक अम्ल और क्लोरोजेनिक अम्ल साथ में मिलकर हमारी त्वचा पर बुरा असर डालने वाले फ्री रेडिकल को रोकने का काम करते है। इस फ्री रेडिकल की वजह से हमारे शरीर में ऑक्सीडेशन होता है जिससे हमारी स्किन पर काफी बुरा असर पड़ता है। इसीलिए हमारे रोज के खाने में अगर हम धनिया का इस्तेमाल करेंगे तो त्वचा पर होने वाली झुर्रिया से भी छुटकारा मिल जाता है साथ ही फ्री रेडिकल से भी मुक्ति मिल जाती है।

 

कैंसर में  लाभकारी

 

धनिया एक कैंसर विरोधी एजेंट है। इसके पत्तो में बीटा कैरोटीन, विटामिन सी और ई, कैफिक अम्ल, फेरुलिक, क्वेरसेतीन, केम्पफेरोल्ड जैसे एंटीऑक्सीडेंट होते है जो कैंसर को ठीक करने के लिए उपयोग में लाये जाते है।


एनीमिया की बीमारी में कारगर 

धनिया में अधिक मात्रा में लोह होता है जो एनीमिया के मरीजो को ठीक करने के लिए उपयोग में लाया जाता है। शरीर में लोह की कमी से श्वसन से जुडी बीमारी, थकावट और दिल की धड़कन को लेकर कई सारी बीमारी हो सकती है। लोह के कारण हमारी हड्डिया भी मजबूत बनती है।

 

आंखो के लिए फायदेमंद

धनिया में बीटा कैरोटीन और एंटीऑक्सीडेंट होने के वजह से आखो से जुडी कई सारी बीमारी में इसका इस्तेमला किया जाता है। मकुला और मोतिबिंदु जैसे बीमारी में भी धनिया असरदार साबित हो चूका है।


किडनी स्टोन 

धनिया में प्राकृतिक डाययुरेटिक तत्त्व होते है जिससे किडनी स्टोन की बीमारी होना का खतरा कम हो जाता है। साथ ही यह तत्त्वहमारे किडनी से सारी ख़राब चीजो को ख़तम करनेमे सहायता करता है।

 

डायबिटीज में सहायक

धनिया के पत्ते एंडोक्राइन ग्रंथि को उत्तेजित करने का काम करते है जिससे हमारे शरीर में इन्सुलिन की मात्रा बढ़ जाती है। इससे हमारे शरीर में सुगर नियंत्रित किया जाता है। डायबिटीज के मरीजो के लिए धनिया काफी सहायता प्रदान करता है क्यों की यह शरीर के सुगर को नियंत्रित करने का काम करता है साथ ही पाचन को भी ठीक करने में सहायक है।

 

मासिक धर्म की बीमारी में लाभदायक 

धनिया के पत्ते एंडोक्राइन ग्रंथिको नियंत्रित करने का काम करते है। इससे मासिक धर्मं में सुधार होने में मदत मिलती है।

 

पाचन से जुडी बीमारी भी धनियां से दूर होती है

 

त्वचा को सुन्दर बनाने के लिए इस्तेमाल 

 

धनिया के पाउडर को खाने में इस्तेमाल करने से स्किन कैंसर का खतरा 30% तक कम हो जाता है। इसके तत्त्व सूर्य की किरनो से आने वाले फ्री रेडिकल को ख़तम करने का काम करते है। हमेशा खाने मे धनिया का इस्तेमाल करने से झुर्रियो से छुटकारा मिलता है।

 

वजन कम करने के लिए इस्तेमाल 

 

धनिया के पत्तो का इस्तेमाल वजन घटाने के लिए भी किया जाता है। रात में धनियां के सूखे बीजों को 1 कप पानी में भीगों दे और सुबह उठकर उसको छान के उसका पानी पी लें।

                                                                                नई दिल्ली से ज्योति सिंह


पर हमसे जुड़े