Live Tv

Thursday ,13 Dec 2018

उपवास पर बैठे दिल्ली के कई सांसद

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Apr 12-2018 04:33:29pm


नई दिल्ली ; संसद के बजट सत्र में लगातार कार्यवाही स्थगित होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित बीजेपी के सभी सांसद उपवास पर है। भाजपा सांसद राजधानी सहित राज्य के विभिन्न संसदीय क्षेत्र में लोकतंत्र बचाओ अभियान के एक दिवसीय उपवास पर बैठे।

 

 भाजपा का आरोप है कि विगत दिनों कांग्रेस ने जिस तरह संसदीय लोकतंत्र को तार-तार कर संसद को ठप करने का घृणित प्रयास किया है। वह निंदनीय है। इसी मुद्दे पर दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी भी उपवास पर बैठे।

 

ये पढ़े : राबड़ी की सुरक्षा पर संग्राम

 

पिछले दिनों कांग्रेस ने भी एस सी / एस टी पर हो रहे अत्यचार को लेकर उपवास किया था । अब केंद्र की सत्ता में काबिज भाजपा भी विपक्ष द्वारा संसद नहीं चलने को लेकर उपवास पर बैठ गए है।  चांदनी चौक से सांसद और केंद्रीय मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन  टाउन हाल पर अपने समर्थको के साथ उपवास पर बैठे। उनके साथ केंद्रीय मंत्री आलूवालिया भी उपवास में मौजूद थे।

 

डॉक्टर हर्षवर्धन का कहना है की किस तरह से कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने इस बार पूरा संसद का सत्र नहीं चलने दिया। जिससे देश की जनता का पैसा बर्बाद हुआ और इसके साथ ही इस संसद सत्र में कोई कानून पास नहीं करने दिया, क्योकि विपक्ष को ये सहन नहीं है की एक गरीब का बेटा प्रधानमंत्री बन गया है और वो गरीबो किसानो के लिए कानून बनना चाहते है।

 

इस मोके पर कांग्रेस को लेकर तंज कस्ते हुए कहा की कांग्रेस के साशन काल में कितने घोटाले हुए है ये पूरा देश जानता है। साउथ दिल्ली के सांसद रमेश बिधूड़ी ने भी अपने संसदीय क्षेत्र के गोविन्दपुरी इलाके में एक दिन का उपवास रखा और कांग्रेस पार्टी पर लोकतांत्रिक व्यवस्था की हत्या करने का आरोप लगाया। इसके अलावा पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद महेश गिरी भी एक दिन के उपवास पर बैठे।

 

ये पढ़े : मधेपुरा में देश का सबसे powerful इंजन

 

वहीं नार्थ वेस्ट दिल्ली  से दलित सांसद उदित राज ने भी एक दिन का उपवास रखा। बजट सत्र में लगातार संसद की कार्यवाही नही चलने देने के बाद कांग्रेस और बीजेपी आमने-सामने आ गई है। विपक्षी दलों के हंगामे के चलते पूरा बजट सत्र हंगामे की भेंट चढ़ गया। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित सत्तारूढ़ बीजेपी के सभी सांसद लोकतन्त्र बचाओ अभियान के तहत अपने अपने संसदीय क्षेत्रों में उपवास पर बैठे है।

 

इसी के चलते साउथ दिल्ली के सांसद रमेश बिधूड़ी ने अपने संसदीय क्षेत्र गोविन्दपुरी में एक दिन का उपवास रखा और कांग्रेस पार्टी पर लोकतांत्रिक व्यबस्था की हत्या करने का आरोप लगाया।  इसके अलावा पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद महेश गिरी भी एक दिन के उपवास पर बैठे। इसके अलावा नार्थ इस्ट से दलित सांसद उदित राज ने भी एक दिन का उपवास रखा।

 

वहीं नई दिल्ली लोकसभा सीट से सांसद और भाजपा प्रवक्ता मिनाक्षी लेखी ने भी उपवास रखा। बजट सत्र के हंगामे की भेंट चढ़ने के बाद बीजेपी के सभी सांसदों ने उस अवधि के दौरान की सैलरी नही लेने का भी एलान किया है। सत्तारूढ़ बीजेपी और बिपक्ष दोनों ही संसद ने चल पाने के लिए एक दूसरे को जिम्मेदार ठहरा रहे है और अब बीजेपी सांसद जनता के बीच जाकर विपक्षी सांसदों पर संसद नही चलने देने और उनकी करतूतों को जनता के सामने रखकर विपक्षी सांसदों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है ।

 

 जनता के दरबार मे उनके ढोंग की पोल खोलने में लग गए है। दलितों के उत्पीड़न को लेकर राहुल गांधी ने भी उपवास अनशन रखा था लेकिन उपवास से पहले छोले भटूरे खाते हुए कांग्रेसी नेताओं की वाइरल हुई एक तस्वीर ने पार्टी की खूब किरकिरी की थी। लेकिन अब बीजेपी सांसद कांग्रेस के उपवास अनशन का जवाब उपवास रखकर ही दे रहे है जिससे जब अगली बार संसद सत्र में विपक्षी सांसद पहुंचे तो विपक्ष के तेबर ढीले रहे।