×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Tuesday, 19 June 2018

केदारनाथ यात्रा को लेकर स्वास्थ्य महकमे ने कसी कमर

Reported by KNEWS | Updated: Apr 22-2018 01:20:54pm


रुद्रप्रयाग : केदारनाथ यात्रा को लेकर जिले के स्वास्थ्य महकमे ने भी अपनी तैयारियां पूरी कर दी हैं। 25 अप्रैल से स्वास्थ्य विभाग की सभी इकाइयां सेवाएं देना शुरु कर देंगी।

 

खुशी की बात यह है कि इस बार द्वितीय केदार भगवान मद्महेश्वर और तृतीय केदार भगवान तुंगनाथ में भी स्वास्थ्य इकाइयां मौजूद रहेंगी। पैदल मार्गों पर जहां एसडीआएफ एवं स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम देखने को मिलेगी।

 

ये पढ़े : मुआवजे की मांग

 

 वहीं सडकों और मुख्य पड़ावों पर पूरे साजोसामान के साथ विभाग हर समय तत्पर रहेगा। उच्च हिमालयी क्षेत्र की केदारनाथ यात्रा होने के कारण शासन का पूरा ध्यान इस दिशा में रहता है और यहां पर तीर्थयात्रियों को हो रही स्वास्थ्य दिक्कतों को देखते हुए विभाग अब कोई भी रिस्क लेने के मूड में नहीं है। स्वास्थ्य महकमे ने यात्रा को लेकर शासन को अपनी रिक्वायरमेंट भी भेजी थी, जिसमें 21 चिकित्सक, आठ फिजीशियन, 25 फार्मेशिष्ट, सात स्टाफ नर्स एवं 29 कक्ष सेवकों की डिमांड की गई।

 

शासन ने भी अन्य जनपदों से डाॅक्टरों और नर्सिंग स्टाॅफ को भेजना शुरु कर दिया है और इन सभी की तैनाती जरूरत के अनुसार शुरु कर दी गई है। जिला अस्पताल रुद्रप्रयाग के लिए भी अतिरिक्त चिकित्सकों की तैनाती के निर्देश दिये गये हैं। कई चिकित्सकों ने चिकित्सालय में अपनी सेवाएं देना भी शुरू कर दिया है। इस बार विभाग ने अति दुर्गम भगवान मदमहेश्वर की यात्रा में भी दो स्वास्थ्य यूनिटों को गौण्डार एवं मध्यमहेश्वर में तैनात कर दिया है। इसके साथ ही तृतीय केदार तुंगनाथ एवं चोपता में हर समय स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी तैनात रहेंगे।

 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ सरोज नैथाणी ने बताया कि केदारनाथ यात्रा की तैयारियों को लेकर स्वास्थ्य विभाग जुटा हुआ है। यात्रा पड़ावों पर तीर्थ यात्रियों को कोई दिक्कत न हो, इसके लिए कार्य योजना तैयार की गई है। केदारनाथ यात्रा के लिए सोनप्रयाग को मुख्य केन्द्र बनाया गया है, जहां पर महिला एवं पुरुष चिकित्सा अधिकारियों के साथ ही वाहन की सुविधा भी चैबीसों घण्टे मौजूद रहेगी। चारधाम यात्रा के दौरान रुद्रप्रयाग जिला अस्पताल पर काफी दबाव रहता है।

 

ऐसे मे यहां पर व्यवस्थाओं के संचालन के लिए अतिरिक्त चिकित्साधिकारी की भी तैनाती कर दी गयी है। डाॅ नैथाणी ने बताया कि इस बार द्वितीय केदार भगवान मध्यमहेश्वर एवं तृतीय केदार भगवान तुंगनाथ में भी स्वास्थ्य इकाइयां तैनात रहेंगी। पैदल मार्गों पर जहां एसडीआएफ एवं स्वास्थ्य विभाग की संयुक्त टीम कार्य करेगी, वहीं सड़कों और मुख्य पड़ावों पर पूरे साजोसामान के साथ विभाग हर समय तत्पर रहेगा। उन्होंने दावा किया कि इस बार यात्रा के दौरान विभाग हर समय हर स्थिति से निपटने के लिए तत्पर रहेगा।

                                                       

                                                                                       रुद्रप्रयाग से रोहित डिमरी


पर हमसे जुड़े