×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Sunday, 21 October 2018

ऑक्सफोर्ड रिटर्न का हिंदुस्तानी दिल

Reported by KNEWS | Updated: Apr 24-2018 04:03:27pm


नई दिल्ली : दुनिया भर में मशहूर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट एक व्यक्ति भारत आया है। जिसे सुनकर हर कोई दंग रह जाएगा। ये व्यक्ति ऐसा है जिसे कभी किसी से मदद लेना गंवारा नहीं है। वो सिर्फ दूसरों की मदद करना पसंद करता है। इस व्यक्ति का नाम है राजा सिंह।

 

जिसकी उम्र 76 वर्ष है। पता है वो 48 साल से सिर्फ एक ही काम करता है वो भी बड़ी लगन से। राजा सिंह 48 साल से रेलवे स्टेशन पर अपनी जिंदगी गुजर बसर कर रहे है। लगाता है न उसका कोई परिवार है और न घरबार।

 

ये पढ़े : LOC पर ताबड़तोड़ फायरिंग, 4 पाक सैनिक ढेर

 

उसकी जिंदगी की बहुत ही नायाब कहानी है पता है 76 वर्षीय राजा सिंह रोज दिल्ली स्थित वीजा एप्लिकेशन सेंटर जाते है। वहां राजा सिंह वीजा सेंटर में आए लोगों की फॉर्म भरने में मदद करते है। इसके बाद बाद वो अपने बचे हुए समय में गुरुदारे माथा टेकने जाते है और फिर रात में सोने के लिए नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर चले जाते है।


सिंह की जीवनचर्या

 

सिंह ने 1964 में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से ग्रेज़ुएशन की डिग्री पूरी की और उसके बाद वहीं उनकी नौकरी लग गई। बड़े भाई कहने पर कुछ ही दिनों बाद नौकरी छोड़ कर अपने वतन हिंदुस्तान लौट आये। वापस लौट कर अपने भाई के साथ मिलकर कई बार बिज़नेस करने की कोशिश की लेकिन किसी भी बिज़नेस में सफलता नहीं मिली। कुछ दिनों बाद अचानक भाई की मौत हो जाती है और राजा सिंह अकेले पड़ जाते है। राजा सिंह के दो बेटे है लेकिन पत्नी से अक्सर अनबन होने के नाते पत्नी बच्चों को लेकर अलग हो जाती है. इस तरह बीवी बच्चे होने के बावजूद भी राजा सिंह इस दुनिया में तन्हा हो जाते है।

 

राजा सिंह ने बच्चों से मिलने की काफी कोशिश की लेकिन पत्नी के रवैये से उन्हें हर बार नाकामी ही मिली. इतना कुछ खो जाने के बाद भी राजा सिंह ने हिम्मत नहीं हारी ज़िन्दगी से लड़ते रहे और 1970 के आसपास उन्होंने अपनी एक नई ज़िन्दगी का आगाज़ रेलवे स्टेशन से शुरू किया. अब वो हर रोज़ वीज़ा एप्लिकेशन सेंटर पर जाते है और वहां लोगों की फॉर्म भरने में मदद करते है। मदद के बदले लोग उन्हें कुछ पैसे दे दिया करते है इसी पैसे से उन्होंने अपने ज़िन्दगी का गुज़ार करना शुरू किया। वीज़ा एप्लिकेशन सेंटर से वो सीधे गुरुदद्वारे जाते वहाँ कुछ वक़्त बिताते और फिर में रात को सोने के लिए वो नई दिल्ली रेलवे स्टेशन चले जाते. राजा सिंह के ज़िन्दगी का ये सिलसिला पिछले 48 सालों से जारी है।

 

दरअसल राजा सिंह तकरीब पिछले एक महीने से दिल्ली के कनॉट प्लेस के ऑउटर सर्कल पर स्थित एक सुलभ शौचालय में फ्रेश होने आते है। हर रोज़ यहीं से वो तैयार हो कर वीज़ा एप्लिकेशन सेंटर जाते है। कुछ दिनों पहले ही अविनाश सिंह नाम के एक व्यक्ति की नज़र उन पर पड़ी और यही से इस पूरे मामले का खुलासा हुआ। फिर एक व्यक्ति ने इसको सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया और देखते ही देखते तेज़ी से वायरल हो गई और लाखों लोगों तक पहुंच गई। दो दिन के अंदर दुनिया भर से मदद के लिए तकरीबन साढ़े 3 हज़ार कॉल और 5 हज़ार मैसेज आए है।
                                                                                     नई दिल्ली से ज्योति सिंह


पर हमसे जुड़े

मुख्य ख़बरे