×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Tuesday, 14 August 2018

नगर पंचायत अध्यक्षो को नही रास आ रही महिला अधिकारियों की ईमानदारी

Reported by KNEWS | Updated: May 04-2018 11:45:26am



कौशाम्बी : जिले के दो नगर पंचायतो में पिछले एक महीनों से विकाश कार्य पूरी तरह से प्रभावित चल रहा है। पूरी ईमानदारी और शिद्दत से काम करने वाली महिला अधिकारियों का मानशिक उत्पीड़न किया जा रहा है ।

 

नगर पंचायत के अधिशाषी अधिकारियों का सीधा आरोप है कि नियम विरुद्ध काम न करने पर उन्हें नगर पंचायत अध्यक्ष द्वारा धमकाया जा रहा है, डरवाया जा रहा है। इतना ही नही असलहों से लैस गुर्गो के साथ सरकारी दफ्तर में घुसकर दहशत फैलाया जा रहा है।

 

ये पढ़े : अवैध खनन का खुला खेल

 

जिसके बाद से नगर पंचायत अध्यक्ष के भय से कर्मचारी भी दहशत में काम करने को मजबूर है। आरोप है कि जिम्मेदार अफसरों से मामले की शिकायत करने के बावजूद भी आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नही हो रही है। चायल नगर पंचायत के अधिशाषी अधिकारी अंजू यादव का कहना है कि उन्हें सरकार के मंशा के अनुरूप ईमानदारी से काम नही करने दिया जा रहा है।

 

नगर पंचायत अध्यक्ष और अध्यक्ष पति द्वारा पिछले एक महीने से फर्जी भुगतान कराने व नियम विरुद्ध गलत काम करने के लिए आपराधिक बल पूर्वक दबाव बनाया जा रहा है । उनको परेशान कर मानसिक उत्पीड़न किया जा रहा है। जिसकी शिकायत उन्होंने जिलाधिकारी से भी किया है लेकिन नतीजा शिफर रहा है। इसी तरह मंझनपुर नगर पंचायत के अधिशाषी अधिकारी अंकिता पटेल को भी परेशान किया जा रहा है।

 

उनका भी मानसिक उत्पीड़न किया जा रहा है । आरोप है कि नगर पंचायत अध्यक्ष नियम विरुद्ध काम करने और फर्जी भुगतान कराये जाने के लिए लगातार अधिशाषी अधिकारी पर दबाव बना रहे है। गलत काम न करने पर उनके दफ्तर में असलहों से लैस गुर्गो के साथ डर और दहशत का माहौल कायम किया जा रहा है। आरोप है कि मामले की शिकायत के बावजूद भी भ्रष्ट नगर पंचायत अध्यक्षो के खिलाफ कोई कार्यवाही नही की जा रही। वहीं मीडिया के सवालों से भी जिम्मेदार अधिकारी दूरियां बना रहे है । 

                                                 

                                                                             कौशाम्बी से इंतजार रिज्वी


पर हमसे जुड़े