Live Tv

Sunday ,16 Dec 2018

किसान पस्त, सरकार मस्त

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: May 05-2018 10:30:49am

संभल : योगी सरकार की प्राथमिकता में शामिल किसानो से गेंहू खरीद के लिए  सरकारी  बंदोवस्त पूरी तरह धराशाई नजर आ रहे है।  हालात यह है कि संभल जनपद की मंडी समितियों में बनाए गए क्रय केन्द्रों पर किसानो को अपना अनाज बेचने के कई -कई दिन इन्तजार करना पढ़ रहा है।

 

 किसान अपने गेंहू की तोल कराने के लिए जिले की मंडियों में राते गुजार रहे है। प्रशासन अनाज के भंडारण के लिए गोदाम तक के बंदोवस्त नहीं कर  पा रहा है। मौसम विभाग की बरसात की चेतावनी के बाबजूद अनाज को बरसात से बचाने के लिए भी कोई प्रयास नहीं किए जा रहे है।

 

ये पढ़े : जागरुकता की अलख जगाने में जुटी पुलिस

 

हजारो कुंटल गेंहू खुले मैदान में पड़ा है। परेशान किसान प्राइवेट क्रय केन्द्रों में कम कीमत पर अनाज बेचने को मजबूर हो रहे है। सरकार के निर्देश पर प्रशासन द्वारा किसानो से गेंहू की खरीद के किए गए बंदोवस्त के दावों का मीडिया की टीम ने संभल जनपद की चन्दौसी तहसील की मंडी समिति में रिएलीटी चेक किया तो सरकार के दावें पूरी तरह धराशाई  दिखाई दिएI सरकारी क्रय केंद्र पर  गेंहू की तोल  के लिए किसान  2 दिन बाद भी  गेंहू की तौल न होने से परेशान दिखाई दिए।

 

 सरकार के निर्देशों के बावजूद प्रशासन गेंहू के भंडारण के लिए अभी तक गोदामों की व्यवस्था नहीं कर पाया है। हजारो कुंटल गेंहू खुले मैदान में पड़ा   है। अनाज को त्रिपाल से ढककर बरसात से बचाने की कोशिस की जा रही है।  खुले में रखे अनाज को आबारा पशु और बन्दर भी बर्वाद कर रहे है।  क्रय केन्द्रों पर रिश्वत खोरी की शिकायते भी आ रही है।

 

क्रय  केंद्र के 1 रिश्वत खोर  इंचार्ज को एस डी  एमे रंगे् हाथ पकड़ कर जेल भिजवा चुके है।  क्रय केन्द्रों पर अव्यवस्थाओ के सन्दर्भ में एस डी एम प्रति पाल सिंह से जानकारी की गई तो उन्होंने बताया की क्रय केन्द्रों पर उम्मीद से अधिक अनाज की आबक है जिसकी बजह से किसानो को परेशानी का सामना करना पढ़ रहा है। उन्होंने बताया की जल्द ही सभी व्यवस्थाए दुरस्त कर ली जाएंगी।

                                             

                                                                                संभल से रईस अल्वी