×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Friday, 16 November 2018

लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस तैयार ,राहुल बोले जनता की पसंद का होगा देश का पीएम

Reported by KNEWS | Updated: Sep 24-2018 11:49:00am


आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस नए-नए दांव खेलना शुरू कर दी है.कांग्रेस अध्यछ राहुल गाँधी ने कहा की अगर कांग्रेस 2019 लोकसभा चुनाव जीतती है तो देश का प्रधानमंत्री नेताओं की पसंद का नहीं बल्कि जनता के पसंद का बनेगा।लोक सभा चुनाव जितने के लिए राहुल गांधी जनता के बिच में क्या मुद्दे, क्या नारे और क्या रोडमैप लेकर जाएं,उसके लिए लगातार अपने वरिष्ठ नेताओ  के साथ मीटिंग कर रहे। लेकिन बैठकों में जब-जब वरिष्ठ नेताओं ने अपनी राय दी, तो राहुल ने दो-टूक कहा कि, आप लोग अपनी पसंद या अपनी राय मत बताइए, जनता क्या पसंद कर रही है, क्या चाहती है, वो बताइये.वर्ना ये बताइए कि 2014 में बुरी तरह क्यों हारे?

वही दूसरी तरफ कांग्रेस महा गठबंधन को मजबूत करने के लिए हर संभव कोशिश में लगी है.लेकिन बैठक में हर बार राहुल गाँधी का 2014 में हार के कारण पर सवाल उठाना कांग्रेस के नेताओं के लिए बड़ी चिंता का विषय बन चूका है.राहुल गाँधी ने चुनाव को जितने के लिए तय किया है की पार्टी के नेता अब टाउन हॉल, विश्वविद्यालयों, पंचायतों, वगैरह में जाकर युवाओं, किसानों और आम जनता से छोटे-छोटे ग्रुप बनाकर चर्चा करेंगे. इसके बाद जनता की पसंद और राय के मद्देनजर ही पार्टी की रणनीति, नारे और रोडमैप तैयार करेंगे.वही इस मुद्दे पर पार्टी की पब्लिसिटी कमेटी के मुखिया आनंद शर्मा का कहना है कि, हम जनता की पसंद जानने के बाद ही रणनीति बनाएंगे. 2009 में जय हो हमारा थीम सांग था, इस बार भी नए नारे होंगे और थीम सांग भी होगा. लेकिन हम इसका खुलासा दिसंबर के आखिर में करेंगे. अभी तैयारी चल रही है.

इसके लिए शुरुआती तौर पर पार्टी की पब्लिसिटी कमेटी ने एक देशव्यापी सर्वे भी कराया है. इस सर्वे के मुताबिक, कई बातें सामने आईं हैं.जैसे की,राफेल में भ्रष्टाचार का मुद्दा बीजेपी और प्रधानमंत्री के खिलाफ जा रहा है,वही युवाओ के लिए बेरोजगारी का मुद्दा,पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतें और महंगाई का है. वही इतना वक्त गुजरने के बाद अब नोटबंदी के खिलाफ जनता में नाराजगी है, जो पहले नहीं थी.साथ ही किसानों की समस्याएं और दलितों की नाराजगी भी अहम मुद्दे हैं.ऐसे में पार्टी इन मुद्दों के आधार पर  चार राज्यों में होने वाले चुनावों में रणनीति, रोडमैप और नारे तैयार करेगी.  चार राज्यों के चुनावों में प्रयोग के आधार पर ही पार्टी 2019 के लिए अपने नारे, रोडमैप और थीम सांग भी तैयार करेगी.


पर हमसे जुड़े

मुख्य ख़बरे