×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Sunday, 18 November 2018

पी.चितम्बरम ने राफेल डील को लेकर जेटली पर साधा निशाना ,सरकार जाँच या टॉस कराये

Reported by KNEWS | Updated: Sep 24-2018 12:30:13pm


राफेल डील को लेकर देश की सियासत में उठापटक लगी हुई है.कभी कांग्रेस भाजपा पर आरोप लगाती है तो ,कभी भाजपा कांग्रेस को घेरने का काम  करती है.दोनों का जुबानी जंग जब से यह डील हुआ है तब से शुरू है.इसी जुबानी जंग में पूर्व वित्त मंत्री पी.चितम्बरम ने भी अरुण जेटली के बयान पर पलटवार करते हुए कहा की सरकार इस मामले में जांच का आदेश देने से इनकार कर रही है, यह दुखद है.

पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम ने ट्वीट कर कर के कहा की , 'वर्तमान वित्त मंत्री कहते हैं कि सच के दो पहलू नहीं हो सकते, बिल्कुल सही. वित्त मंत्री के मुताबिक यहां दो पहलू हैं. ऐसे में यह पता लगाने का सही तरीका क्या है कि कौन सा पहलू सही है?'उन्होंने कहा, 'या तो जांच का आदेश दिया जाए या फिर फिर टॉस करा लिया जाए. मुझे लगता है कि वित्त मंत्री टॉस कराना  पसंद करेंगे'.वह भीऐसे सिक्के से जिसमे दोनों तरफ हेड हो.वही उन्होंने सरकार के फैसले पर अफ़सोस जताते हुए कहा की,यह दुखद है कि सरकार सिलसिलेवार हुए घटनाक्रमों को नहीं देख रही है और जांच का आदेश देने से इनकार कर रही है.'

 बता दे की राफेल मामले में फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलोंद के कथित बयान को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था. उस पर जेटली  पलटवार करते हुए आरोप लगाया कि, गांधी सच नहीं बोल रहे ,उनके व ओलोंद के बीच 'जुगलबंदी' दिखाई देती है.पिछले कई महीनों से राहुल गांधी और कांग्रेस आरोप लगा रहे हैं कि मोदी सरकार ने फ्रांस की कंपनी दसाल्ट से 36 राफेल लड़ाकू विमान की खरीद का जो सौदा किया है.उसमे यूपीए सरकार द्वारा तय मूल्यों से कही अधिक है.इससे सरकारी खजाने को हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है.वही पार्टी ने यह भी आरोप लगाया की, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सौदे को बदलवाया और एचएएल से ठेका लेकर रिलायंस डिफेंस को दिया गया.


पर हमसे जुड़े

मुख्य ख़बरे