×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Friday, 16 November 2018

बाड़मेर जिले की शिव विधान सभा सीट से मानवेंद्र की पत्नी चित्रा लड़ेंगी चुनाव

Reported by KNEWS | Updated: Sep 25-2018 02:16:31pm


राजस्तान में साल के अंत में होने वाले विधान सभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियों ने तैयारी शुरू कर दी है.वही बता दे की राजस्थान में सीटो के लिहाज से सबसे बड़े क्षेत्र मारवाड़ के बाड़मेर जिले की शिव विधानसभा इन दिनों काफी सुर्खियों में है. इस विधानसभा सीट से पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह के पुत्र मानवेंद्र सिंह विधायक हैं.राजस्थान की राजनीति में कभी बड़ी सख्सियतो  में सुमार जसवंत सिंह जसोल परिवार 2014 लोकसभा चुनाव के बाद से हाशिये पर चला गया. 2014 लोकसभा चुनाव में भाजपा ने जसवंत सिंह को बाड़मेर से टिकट न देकर कर्नल सोनाराम को खड़ा किया था. इसके बाद से लगातार बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व से जसोल परिवार की दूरी बढ़ती गई.

जोधपुर संभाग में अपनी गौरव यात्रा के दौरान भी मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सभी  विधानसभा सीट पर प्रचार के लिए गईं. लेकिन मानवेंद्र की शिव विधानसभा पर नहीं गईं. लिहाजा बीजेपी में अहमियत कम होता देख मानवेंद्र सिंह ने 22 सितंबर को बाड़मेर के पचपदरा में स्वाभिमान रैली को संबोधित करते हुए बीजेपी छोड़ने का एलान कर दिया. 40 सालों से बीजेपी के साथ संबंध खत्म करते हुए मानवेंद्र सिंह ने कहा ''कमल का फूल, बड़ी भूल''..बताया जा रहा है कि,मानवेंद्र सिंह का आगामी विधान सभा चुनाव लड़ने का इरादा नहीं है. मानवेंद्र सिंह तीन बार बाड़मेर से लोकसभा चुनाव लड़ चुके हैं और 2009 के लोकसभा चुनाव में सांसद भी बने. संसदीय राजनीति में अपनी भूमिका को देखते हुए मानवेंद्र सिंह ने लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला लिया है. जिसके बाद उम्मीद जताई जा रही है कि, शिव विधानसभा सीट से उनकी पत्नी चित्रा सिंह तुनाव लड़ सकती हैं.

बाड़मेर की शिव विधानसभा क्षेत्र संख्या 134 की बात करें तो यह सामान्य सीट है. 2011 की जनगणना के अनुसार यहां की जनसंख्या 407320 है जो पूरी तरह से ग्रामीण क्षेत्र हैं. वहीं कुल आबादी का 17.6 फीसदी अनुसूचित जाति और 5.4 फीसदी अनुसूचित जनजाति हैं.2017 की वोटर लिस्ट के अनुसार शिव विधानसभा सीट पर मतदाताओं की संख्या 242684 है और 401 पोलिंग बूथ हैं. 2013 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर 81.62 फीसदी और 2014 लोकसभा चुनावों में 77.53 फीसदी मतदान हुआ था.बता दे की इस सीट पर साल 2013 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी से मानवेंद्र सिंह ने कांग्रेस विधायक अमीन खान को 31425 वोटों से पराजित किया. बीजेपी के मानवेंद्र सिंह को 100934 और कांग्रेस के अमीन खान को 69509 वोट मिले थें.वही साल 2008 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के अमीन खान ने बीजेपी विधायक जालम सिंह को 29860 मतों से शिकस्त दी. कांग्रेस के अमीन खान को 75787 और बीजेपी के जालम सिंह को 45927 वोट मिले थें.


पर हमसे जुड़े

मुख्य ख़बरे