×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Monday, 19 November 2018

सुशासन राज्य बनाए रखने के लिए नितीश ने किया बड़ा एलान,पुलिस के आधुनिकीकरण पर हजार करोड़ देने को तैयार

Reported by KNEWS | Updated: Sep 25-2018 05:28:07pm


बिहार में बढ़ते अपराध से परेशान होकर सुशासन कुमार ने बिहार में सुशासन लाने के लिए पुलिस के आधुनिकीकरण पर हजार करोड़ खर्च करने को तैयार। मंगलवार को पटना में डायल 100 को नए टेक्नोलॉजी के आधार पर नई सुविधा के साथ लॉन्च किया. इस मौके पर नीतीश कुमार ने पुलिस की जमकर खिंचाई भी की. यहां उन्होंने कुछ पुराने किस्से भी सुनाए, कुछ अपना अनुभव भी बताया.बता दें कि 2014 में केवल पटना शहर के लिए डायल 100 शुरू किया गया था. लेकिन अब ये सुविधा पूरे बिहार के लिए कर दी गई है. एक केंद्रीय कक्ष पटना में बनाया गया है, जिसमें राज्य के किसी भी हिस्से से फोन कर अपराध के बारे में जानकारी दी जा सकती है. कंट्रोल रूम उस इलाके के संबंधित पुलिस को सूचित कर समुचित कार्रवाई करने के लिए बाध्य करेगा.

नीतीश कुमार ने कहा, 'बिहार पुलिस में कमी और उनकी परेशानियों को दूर करने के लिए हमने काम शुरू कर दिया है.मुख्यमंत्री ने अपनी सरकार से पहले की पुलिस का खस्ता हालत बताने के लिए कहानियां बताई. नीतीश ने बताया कि उनके सरकार में आने से पहले बूढ़े हो चले पुलिस वाले कम उम्र के अपराधी को पकड़ नहीं पाते थे. पुलिस वालों के पास ठीक से पोशाक और चप्पल भी नहीं होती थी. पुरानी रायफल थ्री नॉट थ्री ही हुआ करती थी. जबकि अपराधियों के पास एके 47.'वही  कुमार ने डायल 100 की विशेषता बताते हुए कहा की, लैंडलाइन फोन की ज़रूरत है, उसे चालू रखा जाए. बिल भुगतान नहीं होने या खराब हो जाए तो उसका आधे घंटे के अंदर समाधान करें.

नीतीश कुमार यही पर रुके नहीं उन्होंने पुलिस को आड़े हाथो लेते हुए कहा कि,सभी थानों में दो गाड़ियां दी जाए. साथ ही चेतावनी भी दी की थानों की नई गाड़ी को अधिकारी न लें और उसके बदले पुराने ना दें. पुलिस का काम है कौन सी गाड़ी और कब मुहैया करानी है.नीतीश ने साफ कहा कि हर महीने मुख्यालय स्तर पर मुख्य सचिव, डीजीपी, गृह सचिव और ज़िलों में डीएम एसपी 15 दिन में बैठक करें. अपना अनुभव बताते हुए कहा कि जनता के दरबार में सबसे ज़्यादा भीड़ पुलिस और जमीन  विवाद के मामले में शिकायत आती थी. आज भी ज़मीन को लेकर झंझट है. ज़मीन का दाम बढ़ता जा रहा है. कुछ लोग स्वार्थी होते जा रहे हैं. जब ज़मीन विवाद के मसले में क्राइम होता है, तो स्टेट पर आ जाता है. हर मर्डर का मोटिव होता है. ऐसे में एक सर्वे में पाया कि जमीन के मामले 60 फीसदी है और इसको लेकर तनाव और हत्या होती है. उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाएं हो रही हैं इन सभी को गंभीरता देखा जाये .

मुख्यमंत्री ने पुलिस को हिदायत देते हुए कहा की वह पेट्रोलिंग पर ध्यान दें. ऐसी सुविधा उपलब्ध कराई जाए, जिससे शहर में 15 से बीस मिनट में पुलिस पहुंचे. गांव है तो 30 से 35 मिनट में पहुंचे. आबादी बढ़ रही है. पुलिस की संख्या बढ़ानी है तो प्रोपोजल दीजिए. उन्होंने कहा कि हम सुविधा देंगे पर निष्पक्ष कार्रवाई होनी चाहिए.


पर हमसे जुड़े

मुख्य ख़बरे