Live Tv

Wednesday ,20 Mar 2019

''किसान मुक्ति मार्च'' आ रही राजधानी, देश भर के किसान है शामिल

VIEW

Reported by KNEWS

Updated: Nov 28-2018 12:14:42pm

सरकार द्वारा लगातार किसानो को किये गए नजरअंदाज से परेशान होकर भारत के किसान एक बार फिर अपनी परेशानी लेकर राजधानी की तरफ बढ़ रहे है. 29 और 30 नवम्बर को दोबारा राजधानी किसानो, मजदूरों और महिलाओ से पट जाएगी। एक बार फिर किसानों के सवाल दिल्ली में गूजेंगे और सरकार क्या अब जागेंगी? इस सवाल का जवाब कब मिलेगा यह देखने वाली बात है. वही बता दे की अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर देशभर के दो सौ से ज्यादा किसान-मजदूर संगठन दो दिनों तक देश की राजधानी दिल्ली में जुट रहे हैं.

 

यह कोई पहली बार नहीं की जब भारत के अन्नदाता राजधानी आ रहे हो. इसी साल 2 अक्टूबर को जब किसानों का जत्था दिल्ली में प्रवेश करना चाह रहा था तो दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा का हवाला देते हुए बॉर्डर सील करके किसानों को दिल्ली के बाहर ही रोक दिया था. इस दौरान प्रदर्शनकारी किसानों और पुलिस के बीच हिंसक झड़प भी हुई थी. लेकिन इस बार  'किसान मुक्ति यात्रा' में शामिल प्रदर्शनकारी दिल्ली के जंतर-मंतर पर जुटेंगे और फिर वहां से संसद के लिए मार्च करेंगे.

 

बता दे की 'किसान मुक्ति यात्रा' के आयोजकों ने इसी साल 19 सितंबर को देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नाम एक खुला पत्र लिखा था. जिसमें किसानों की मांगों के बारे में विस्तार से जिक्र है. इस पत्र में लिखा गया है, 'देश भर के लगभग 200 किसान संगठनों तथा हमारे देश के लाखों किसानों, मजदूरों और खेत मजदूरों का प्रतिनिधित्व कर रही अखिल भारतीय किसान संघर्ष समिति जो कि उनके रोजगार को बचाने की लड़ाई लड़ रही है,  दिल्ली तक तीन दिवसीय किसान मुक्ति मार्च आयोजित कर रही है. हम आपसे निवेदन करते हैं कि आप उनकी 21 दिनों का संसद का विशेष सत्र बुलाने की मांग स्वीकाए करने का कष्ट करें. यह सत्र पूरी तरह से कृषि संकट तथा उससे संबंधित मुद्दों पर चर्चा करने के लिए होगा.'