×
Knews App Now Available for Mobile

FREE for Android and iOS.

  LIVE TV

Friday, 16 November 2018

पश्चिमी यूपी के इस जिले में हर नौंवा बच्चा कुपोषण का शिकार

Reported by KNEWS | Updated: Jan 28-2018 03:59:20pm


बागपत :  बच्चों के स्वास्थ्य पर सरकार करोड़ों रुपये खर्च कर रही है, लेकिन इसके बाद भी कुपोषण कम होने का नाम नहीं ले रहा है। जिले का हर नौंवा बच्चा कुपोषण का शिकार है। अति कुपोषित बच्चों की संख्या भी काफी अधिक है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बागपत खुशहाल जिलों में गिना जाता है,

 

लेकिन खुशहाली से दूर इस जिले पर अब कुपोषण की काली छाया पड़ गई है। इसकी सर्वाधिक मार नौनिहालों पर पड़ रही है। 24 फीसदी बच्चे कुपोषण की चपेट में हैं। पौष्टिक भोजन के अभाव में 15 फीसदी गर्भवती महिलाओं की सेहत भी खराब है।

 

ये पढ़े : 25 वर्षीय युवक ने हाथ की नश के साथ गुप्तांग भी काटा, हालत गंभीर

 

इन सबके बीच सबसे दुखद पहलू यह है कि जनपद के 82 गांव प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा गोद लिए गये है। 942 बच्चे अतिकुपोषित है जिनमें कुपोषण कम होने का नाम नहीं ले रहा है। जबकि जनपद में  लाल श्रेणी के बच्चों की संख्या 4 हज़ार से ज्यादा पहुंच गयी है। जब गोद लिये गांवों में कुपोषण का ये हाल है तो जनपद में स्थिति तो और भी भयानक हो गयी है। अब सवाल उठता है लाखों के योजनाओं के बाद भी कुपोषण क्यों-?

                                                                                     बागपत से अजय त्यागी

 


पर हमसे जुड़े

मुख्य ख़बरे